HIGHLIGHTS
State-Centre Face-Off Over Ujjwala Scheme In Odisha

State-Centre Face-Off Over Ujjwala Scheme In Odisha

Bhubaneswar December 14 (RNI) : Union Minister for Petroleum and Natural Gas Dharmendra Pradhan on Thursday lambasted the Odisha government for carrying out false political campaign against the Ujjwala scheme and said that it shows the ruling party’s apprehension about the rising popularity of the welfare scheme among the poor in the State. The response came a day after Minister for Food Supplies and Consumer Welfare Surya Narayan Patro wrote a letter to Pradhan alleging that the beneficiaries of Pradhan Mantri Ujjwala Yojana (PMUY) are not able to avail refilling of LPG cylinders under the scheme due to high rate and thus the programme is losing its objective in the State. “Since the launch in May 2016, the scheme has covered as many as 35, 16, 384 households but only 8,18,786 beneficiaries have taken second refill in 2016-17, which further dropped down to 6,45, 265 (18.3 per cent of total coverage) for 2017-18 (till July 24, 2018),” Patro had stated in the letter referring to a newspaper report. “Poor rate of refilling is a clear indication of shifting back to biomass for cooking purposes by the beneficiaries covered under the scheme,” Patro added. Patro further cited the assessment report of CRISIL on household cooking fuel usage and willingness to convert to LPG which covered 12 states across the country including Odisha and mentioned that high initial cost of connection and high recurring cost of LPG refill are the major barriers preventing the large scale penetration of LPG connectivity. “In Odisha too, more than 90 per cent households have highlighted high cost of LPG refilling as a major barrier for shifting towards LPG. If the barrier of high recurring cost of refill of LPG is not addressed immediately, the basic objective of the scheme will be defeated,” minister Patro pointed out. However, responding to the Patro’s concerns, Pradhan in a series of tweets said, “Odisha had 19 lakh LPG connections till May 2014 which has increased to 72.5 lakhs including 41 lakhs BPL gas connections as on today.” Adding that he had earlier offered CM Naveen Patnaik and his colleagues to explain about PMUY, Pradhan said, “The PMUY and LPG schemes under Modi government have transformed lives of 41 lakh BPL families in Odisha in the last 4 years.” “The false political campaign of BJD government against PMUY shows their fear about the rising popularity of Ujjwala Scheme among the poor families in the State. I will request them to cooperate to make Odisha 100 per cent smoke-free state and not to do politics over a sacred scheme,” tweeted Pradhan...

সরকারের অনুমতির অপেক্ষায় বিজেপির রথ

সরকারের অনুমতির অপেক্ষায় বিজেপির রথ

কলকাতা : ৩ রাজ্যে ভরাডুবির পরও বাংলার মসনদ কে বিশেষ গুরুত্ব দিচ্ছেন বিজেপির শীর্ষস্থানীয় নেতৃত্ব। ৩ রাজ্যে ক্ষমতা হারানোর পর দেশের প্রতিটা রাজ্য থেকে শীর্ষ নেতাদের নিয়ে ডাকা বৈঠকে কার্যত হাজির ছিলেন না বাংলার নেতৃত্ব, তারা ব্যস্ত ছিলেন বিজেপির রথ যাত্রা কে সুনিশ্চিত করতে, ৭ ই ডিসেম্বর রথযাত্রা শুরু হওয়ার কথা ছিলো উত্তর বঙ্গ থেকে, শেষপর্জন্ত রাজ্য প্রশাসনের অনুমতি না পাওয়ায় রথের চাকা আর ঘুরলো না, তড়িঘড়ি অনুমতি পাওয়ার প্রচেষ্টায় হাইকোর্টের দরজায় হাজির হয় রাজ্য বিজেপি, কোর্টের পক্ষ থেকে জানানো হয় রাজ্য প্রশাসনিক কর্তাদের সাথে আলোচনা করে যাত্রার সুনিশ্চিত বিবরন দিতে, রাজ্য প্রশাসনের সাথে আলোচনার জন্য রাজ্য বিজেপির মুকুল রায়,জয়প্রকাশ মজুমদার ও প্রতাপ বন্দোপাধ্যায় কে প্রতিনিধি দল হিসেবে ঠিক করেন, কিন্তু কেন্দ্রীয় নেতৃত্বের নির্দেশে আলোচনার জন্য রাজ্য বিজেপি সভাপতি দিলিপ ঘোষ ও রাজ্যের কেন্দ্রীয় দ্বায়িত্ব প্রাপ্ত কৈলাশ বিজয় বর্গীয় র উপর দ্বায়িত্ব পরে, ...

राहुल गांधी का इंतजार कर रहे हैं बिहार के नेता, सीट शेयरिंग पर

राहुल गांधी का इंतजार कर रहे हैं बिहार के नेता, सीट शेयरिंग पर

पटना, 14 दिसंबर (आरएनआई)। बीजेपी के शिकस्त के बाद कांग्रेस अपने जीत पर काफी उत्साहित है. इसे लेकर नेताओं में तरह-तरह के बयान आ रहे है. इसी क्रम में प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता प्रेमचंद्र मिश्रा ने आज बड़ा बयान दिया. साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि महागठबंधन में सीटों को लेकर पार्टी में क्या विचार चल रहे है। प्रेेेम चन्द्र मिश्र ने आज साफ़ कहा कि मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान में किस तरह अच्छी सरकार दी जाये उसपर अभी कांग्रेस आलाकमान का विशेष ध्यान है. इसके बाद निकट भविष्य में सीटों को लेकर चर्चा होगी। दरअसल, मीडिया में यह खबरें आ रही थी कि बिहार में महागठबंधन में सीटों को लेकर फॉर्मूला तय हो गया है. 20 पर राजद और सहयोगी दल अन्य 20 सीट पर चुनाव लड़ेंगे. इसी कयास पर विराम लगते हुए उन्होंने कहा कि इसकी मुझे कोई अधिकारिक जानकारी नहीं है। वहीं, प्रेमचंद्र मिश्रा ने यह भी कहा कि रालोसपा तो एनडीए से अलग हो गई लेकिन आने वाले समय में एनडीए में और भी बिखराव होगा. कुछ नये साथी महागठबंधन में आयेंगे और फिर कौन कहां से चुनाव लड़ेगा, कौन सी पार्टी कितनी सीटों पर चुनाव लड़ेगी इसपर फाइनल फैसला होगा. एक बार उन्होंने महागठबंधन के उदेश्य को फिर से स्पष्ट करते हुए कहा कि हमारा मकसद एक है कि बिहार में बीजेपी-जदयू गठबंधन को बूरी तरह से परास्त करना। हालांकि उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि उपेंद्र कुशवाहा एनडीए से अलग हो चुके हैं, बीजेपी और जदयू पर हमलावर हैं. अगर उपेंद्र कुशवाहा महागठबंधन में आना चाहते हैं तो उनको आना चाहिये।...

चुनावी मौसम में बीजेपी को राम याद आते है - तेजस्वी यादव

चुनावी मौसम में बीजेपी को राम याद आते है - तेजस्वी यादव

पटना, 14 दिसंबर (आरएनआई)। पांच राज्यो में हुए विधानसभा चुनाव में बीजेपी को मिली करारी हार से बिहार एनडीए में बयानबाजी तेज़ हो गई है. बिहार में भाजपा की सहयोगी दल जदयू के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर ने कहा कि 3 राज्यों में चुनावी परिणाम अलार्मिंग नहीं है. जो पार्टी हारी है वही बताएगी हार का क्या कारण है. वहीं उन्होंने नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव को नसीहत देते हुए कहा कि आपकी भाषा से संस्कार का पता चलता है. राजनीति में अच्छे भाषा का प्रयोग होना चाहिए। शुक्रवार को पटना में पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि 3 राज्यों में चुनावी परिणाम अलार्मिंग नहीं है. जो पार्टी हारी है वही बताएगी हार का क्या कारण है. पीएम नरेंद्र मोदी का करिश्मा जनता 5 महीनों में तय करेगी. पीएम मोदी नेता के तौर पर सबसे लोकप्रिय हैं. पीएम मोदी के नेतृत्व में 2019 का चुनाव लड़ेंगे। वहीं प्रशांत किशोर ने तेजस्वी पर निशाना साधते हुए कहा, “आपकी भाषा से संस्कार का पता चलता है. राजनीति में अच्छे भाषा का प्रयोग होना चाहिए. आप जिस भाषा का प्रयोग करते हैं जनता देख रही है.”।जदयू उपाध्यक्ष ने आगे कहा कि भाजपा और जदयू दो पार्टी हैं. कई मुद्दों पर हमारी सोच अलग है. अगर एक सोच होती तो अलग – अलग पार्टी में नहीं होते. वहीं प्रशांत किशोर ने बिहार में पार्टी के आधार पर पंचायत चुनाव कराने की मांग की। आपको बता दें कि राफेल डील मामले पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव मोदी सरकार पर खूब बरसे हैं. दिल्ली से पटना पहुंचे बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने बड़ा हमला बोला. तेजस्वी यादव ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि इस मामले की जॉइंट पार्लियामेंट्री जांच होनी चाहिए. इस के साथ ही उन्होंने कहा कि बीजेपी क्या कहती उससे कोई मतलब नहीं है. किसी के कहने से माना नहीं जा सकता है. घोटाले की जांच हो तभी दूध का दूध पानी का पानी होगा। नीतीश कुमार कहते थे पीएम मोदी के टक्कर में कोई नहीं. लेकिन चुनाव परिणाम के बाद अब नीतीश कुमार फिर से पलटी मारने की तैयारी में हैं. चाचा नीतीश हमारे साथ आना चाहते थे. हमारा दरबाजा तो चाचा के लिए बंद है। तेजस्वी ने कहा कि मुझे कोई डीएनए का गाली देगा मैं तो उसके शरण में कभी नहीं जाऊंगा. नीतीश कुमार की अंतरात्मा पलटी मारने के लिए बेचैन है. चुनावी मौसम शुरू होते ही बीजेपी को राम याद आते हैं. 2019 में बीजेपी की सरकार बनती है तो राम की नहीं पीएम मोदी की मंदिर बनाएगी बीजेपी।...

चिराग पासवान ने उम्मीद जताई कि 2019 मे लोकसभा चुनाव में लोजपा को मिलेगी सम्मानजनक सीटे

चिराग पासवान ने उम्मीद जताई कि 2019 मे लोकसभा चुनाव में लोजपा को मिलेगी सम्मानजनक सीटे

पटना, 14 दिसंबर (आरएनआई)। लोक जनशक्ति पार्टी संसदीय दल के अध्यक्ष व सांसद चिराग पासवान ने उम्मीद जताई कि उनकी पार्टी को 2019 लोकसभा चुनाव में सम्मानजनक सीटें मिलेंगी। इस मसले पर बैठक होगी तो बातें सामने आ जाएंगी। आपको बता दें कि सीट बंटवारे को लेकर रोलसपा प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा एनडीए गठबंधन से अलग हो चुके हैं। चिराग ने पटना एयरपोर्ट पर पत्रकारों के सवाल का जवाब दे रहे थे। उन्होंने कहा कि एनडीए का लक्ष्य है नरेन्द्र मोदी को 2019 में फिर से पीएम बनाना। हम बस इतना चाहते हैं कि गठबंधन मजबूत रहे और 2019 में हम 2014 से बेहतर प्रदर्शन करे। सीटों की संख्या बारे में पूछने पर उन्होंने कहा कि उम्मीद है कि सम्मानजनक सीटें मिलेंगी। एनडीए का गठन विकास के लिए हुआ है। केन्द्र सरकार का एजेन्डा भी यही है। मंदिर आदि का एजेन्डा किसी पार्टी का हो सकता है, सरकार का नहीं। एजेंडे पर अगर राम मंदिर और भगवान हनुमान हावी होने लगेगा तो भ्रम जैसी स्थिति पैदा होगी। उधर, लोजपा के प्रमुख और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने कहा कि कुछ राज्यों में हाल ही में हुए विधानसभा चुनावों में भाजपा की हार का आने वाले लोकसभा चुनाव पर कोई असर नहीं पड़ेगा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 2019 में जीत के लिए सत्ताधारी राजग का नेतृत्व करेंगे। लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के अध्यक्ष पासवान ने तीन राज्यों में भाजपा की हार के लिए सत्ता विरोधी लहर को जिम्मेदार माना है। उन्होंने कहा कि सत्ता विरोधी लहर के बावजूद मध्य प्रदेश और राजस्थान में भाजपा का वोट शेयर लगभग कांग्रेस के बराबर ही रहा। इन दोनों राज्यों में कांग्रेस को जीत हासिल हुई।...

Optimum Utilization of resources is key to sustainable development - Giriraj Singh

Optimum Utilization of resources is key to sustainable development - Giriraj Singh

New Delhi, December 14 (RNI) : Union Minister of State(I/C), for the Ministry of Micro, Small and Medium Enterprises (MSME) Giriraj Singh,said that India needs more indigenously developed technologies for the optimum utilization of resources of the country for sustainable development....

Another Arms and Ammunition Haul by INS Sunayna

Another Arms and Ammunition Haul by INS Sunayna

New Delhi, December 14 (RNI) : On 13 Dec 18, Indian Naval Ship Sunayna, an Offshore Patrol Vessel (OPV) of the Southern Naval Command based at Kochi, while being mission deployed, carried out a Visit, Board, Search and Seizure (VBSS) operation on sighting a suspicious fishing vessel approximately 20 nm off the coast of Somalia in the Horn of Africa. The successful operation resulted in seizure of illegal arms such as five rifles that included AK-47 and 471 rounds of ammunition. After confiscation of the arms and ammunition to prevent their illegal use by the crew for piracy related activities, the fishing vessel was allowed to proceed further....

साप्ताहिक शेयर समीक्षा: शेयरबजारमा एकल प्रकृतिका कम्पनी मात्र हुँदा लगानी विविधिकरण भएन

साप्ताहिक शेयर समीक्षा: शेयरबजारमा एकल प्रकृतिका कम्पनी मात्र हुँदा लगानी विविधिकरण भएन

काठमाडाैं - आर्थिक वर्षको पहिलो अर्धवार्षिक समाप्त हुन १ महिना मात्र बाँकी हुँदासमेत शेयरबजारमा महत्वपूर्ण हिस्सा ओगट्ने वाणिज्य बैंकले साधारणसभा गर्ने जमर्को समेत देखाएका छैनन् ।...

सीएम चुनने में वक्त तो लगता है, राजस्थान कांग्रेस एकजुट है - अशोक गहलोत

सीएम चुनने में वक्त तो लगता है, राजस्थान कांग्रेस एकजुट है - अशोक गहलोत

जयपुर, 13 दिसंबर (आरएनआई)। राजस्थान में सीएम पद के चेहरे को लेकर कांग्रेस में मचे घमासान के बीच अशोक गहलोत ने कहा है कि राजस्थान कांग्रेस एकजुट है और कहीं कोई टकराव नहीं है. वरिष्ठ कांग्रेस नेता और राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि सीएम चुनने में थोड़ा वक्त तो लगता है....

राजस्थान मे मुख्यमंत्री की घोषणा से पहले कांग्रेस प्रवक्ता का इस्तीफा, पायलट के समर्थन में कुर्सी छोडी

राजस्थान मे मुख्यमंत्री की घोषणा से पहले कांग्रेस प्रवक्ता का इस्तीफा, पायलट के समर्थन में कुर्सी छोडी

जयपुर, 13 दिसंबर (आरएनआई)। मध्‍य प्रदेश, छत्‍तीसगढ़ और राजस्‍थान में सत्‍ता सुन‍िश्‍च‍ित होने के बाद भी कांग्रेस में संकट कम नहीं हो रहा है। मुश्‍क‍िल इस बात को लेकर आ रही है क‍ि सत्‍ता की कमान क‍िसे सौंपी जाए। तीनों राज्‍यों में कई दावेदार हैं और उनके समर्थक अपने-अपने तरीके से दबाव भी बना रहे हैं।...

Top Stories

National

  • State-Centre Face-Off Over Ujjwala Scheme In Odisha

    State-Centre Face-Off Over Ujjwala Scheme In Odisha

    Laxmikanta Nath 2018-12-14 16:04:45

    Bhubaneswar December 14 (RNI) : Union Minister for Petroleum and Natural Gas Dharmendra Pradhan on Thursday lambasted the Odisha government for carrying out false political campaign against the Ujjwala scheme and said that it shows the ruling party’s apprehension about the rising popularity of the welfare scheme among the poor in the State. The response came a day after Minister for Food Supplies and Consumer Welfare Surya Narayan Patro wrote a letter to Pradhan alleging that the beneficiaries of Pradhan Mantri Ujjwala Yojana (PMUY) are not able to avail refilling of LPG cylinders under the scheme due to high rate and thus the programme is losing its objective in the State. “Since the launch in May 2016, the scheme has covered as many as 35, 16, 384 households but only 8,18,786 beneficiaries have taken second refill in 2016-17, which further dropped down to 6,45, 265 (18.3 per cent of total coverage) for 2017-18 (till July 24, 2018),” Patro had stated in the letter referring to a newspaper report. “Poor rate of refilling is a clear indication of shifting back to biomass for cooking purposes by the beneficiaries covered under the scheme,” Patro added. Patro further cited the assessment report of CRISIL on household cooking fuel usage and willingness to convert to LPG which covered 12 states across the country including Odisha and mentioned that high initial cost of connection and high recurring cost of LPG refill are the major barriers preventing the large scale penetration of LPG connectivity. “In Odisha too, more than 90 per cent households have highlighted high cost of LPG refilling as a major barrier for shifting towards LPG. If the barrier of high recurring cost of refill of LPG is not addressed immediately, the basic objective of the scheme will be defeated,” minister Patro pointed out. However, responding to the Patro’s concerns, Pradhan in a series of tweets said, “Odisha had 19 lakh LPG connections till May 2014 which has increased to 72.5 lakhs including 41 lakhs BPL gas connections as on today.” Adding that he had earlier offered CM Naveen Patnaik and his colleagues to explain about PMUY, Pradhan said, “The PMUY and LPG schemes under Modi government have transformed lives of 41 lakh BPL families in Odisha in the last 4 years.” “The false political campaign of BJD government against PMUY shows their fear about the rising popularity of Ujjwala Scheme among the poor families in the State. I will request them to cooperate to make Odisha 100 per cent smoke-free state and not to do politics over a sacred scheme,” tweeted Pradhan

International

State

  • चक व सर्वे में फंसाकर किसानों से लूट रहे हैं फर्जी जमीन प्रॉपर्टी डीलर दलाल, प्रशासन मौन

    चक व सर्वे में फंसाकर किसानों से लूट रहे हैं फर्जी जमीन प्रॉपर्टी डीलर दलाल, प्रशासन मौन

    Root News of India 2018-12-15 11:11:26

    भोजपुर- भोजपुर में जमीन की खरीदी बिक्री का अवैध कारोबार तेजी से फल फूल रहा है। किसान कि अनुमति के बिना ही फर्जी तरीके से प्रॉपर्टी डीलरों द्वारा जमीन की खरीद बिक्री की जा रही हैं।किसानों का आरोप है कि कुछ साल पहले सर्वे के बाद कुछ जमीन किसानों का चक में चला गया था. तो कई किसानों का जमीन अदलाबदली हो गया था।अब कुछ किसान अपना मिला हुआ सर्वे से चक की जमीन प्रॉपर्टी डीलरों से कैसे बचाए सोच कर रो रहे है.क्योंकि उदवंतनगर प्रखंड के चौकीपुर गांव में दूसरे का भी चक जमीन को सर्वे कह कर प्रोपर्टी डीलर बेचवा रहे है और लालच में कुछ किसान अपनी जमीन बेचने के बाद दुसरे को भी जमीन बेच रहे है. कहा जा रहा है कि जो सरकार जमीन को सर्वे से चक किया था वे फाइनल नही है . जिससे प्रोपर्टी डीलर सरकार की लिखित दस्तावेज को भी फर्जी तरीके से झुठला रहे है. जिससे जमीनी विवाद और कांटो का जैसा होता जा रहा है व किसान मारे जा रहे है .ओर सरकार व स्थानीय जिला प्रशासन निंद्रा में सोई हुई है।बतादें कि हर किसी का अपनी जिंदगी में प्रॉपर्टी लेने का सपना होता है।लेकिन जमीन खरीदते वक्त अच्छी तरह जांच-पड़ताल जरूर कर लेनी चाहिेए।इसका मतलब है कि जो शख्स प्रॉपर्टी बेच रहा है वो प्रॉपर्टी का असली मालिक है या फर्जी तरीके से प्रॉपर्टी बेच रहा है। प्रखंड उदवंतनगर के चौकीपुर गाँव देखा जा रहा कि जमीन किसी और किसान का है बस प्रोपर्टी डीलर किसान को लोभ लालच देकर बिना ओरिजनल कागजात के जमीन खरीद बिक्री करा दे रहे है .जिससे जमीनी विवाद हद से ज्यादा बढ़ गया है। प्रॉपर्टी डीलर की मनमानी आए दिनों इतना बढ़ गया है कि प्रॉपर्टी डीलर फल फूल रहे हैं व किसान आत्महत्या करने पर भी उतारू होते दिख रहे हैं. क्योंकि प्रॉपर्टी डीलर किसानों में लड़वाकर उनके मुंह का निवाला छीनते दिख रहे हैं। जमीन किसका और जमीन बेच रहा है कौन?

Sports

  • ହକି ବିଶ୍ୱକପ୍‌: ବିପର୍ୟ୍ୟ ୟ ଘଟାଇଲା ଇଂଲଣ୍ଡ, ଅଲିମ୍ପିକ୍ସ ସ୍ୱର୍ଣ୍ଣ ବିଜେତା ଆର୍ଜେଣ୍ଟିନା ବିଦା

    ହକି ବିଶ୍ୱକପ୍‌: ବିପର୍ୟ୍ୟ ୟ ଘଟାଇଲା ଇଂଲଣ୍ଡ, ଅଲିମ୍ପିକ୍ସ ସ୍ୱର୍ଣ୍ଣ ବିଜେତା ଆର୍ଜେଣ୍ଟିନା ବିଦା

    Laxmikanta Nath 2018-12-12 19:07:04

    ଭୁବନେଶ୍ୱର,କଳିଙ୍ଗ ଷ୍ଟାଡିୟମ୍‌ରେ ଚାଲିଥିବା ହକି ବିଶ୍ୱକପ୍‌ରେ ସବୁଠାରୁ ବଡ଼ ବିପର୍ୟ୍ୟଆୟ ଘଟିଛି। ଅଲିମ୍ପିକ୍ସ ସ୍ବର୍ଣ୍ଣ ବିଜେତା ଆର୍ଜେଣ୍ଟିନାକୁ କ୍ରସଓଭର୍‌ ମ୍ୟାଚ୍‌ ଖେଳି କ୍ୱାର୍ଟର ଫାଇନାଲ୍ ଯାଇଥିବା ଅପେକ୍ଷାକୃତ ଦୁର୍ବଳ ଟିମ ଇଂଲଣ୍ଡ ପରାସ୍ତ କରିଦେଇଛି। ଇଂଲଣ୍ଡ ୩-୨ରେ ମ୍ୟାଚ୍‌ ଜିତିବାରୁ ସିଧାସଳଖ ସେମି ଫାଇନାଲ୍‌ରେ ପହଞ୍ଚି ଯାଇଛି। ସେହିପରି ଆର୍ଜେଣ୍ଟିନାର ବିଶ୍ୱକପ୍‌ ଅଭିଯାନ ଶେଷ ହୋଇଛି।ଆଜି ବିଶ୍ୱକପ୍‌ର ପ୍ରଥମ କ୍ୱାର୍ଟର ଫାଇନାଲ୍‌ ମୁକାବିଲାରେ ଇଂଲଣ୍ଡ ଓ ଆର୍ଜେଣ୍ଟିନା ମୁହାଁମୁହିଁ ହୋଇଥିଲେ। ମ୍ୟାଚ୍‌ ଆରମ୍ଭରୁ ଇଂଲଣ୍ଡ ପ୍ରତିପକ୍ଷ ଆର୍ଜେଣ୍ଟିନା ଉପରେ ଚାପ ସୃଷ୍ଟି କରିବାକୁ ଚେଷ୍ଟା କରିଥିଲା। ମ୍ୟାଚ୍‌ର ୧୧ତମ ମିନିଟ୍‌ରେ ଇଂଲଣ୍ଡକୁ ଦୁଇଟି ପେନାଲ୍ଟି କର୍ଣ୍ଣର ମିଳିଥିଲା। ହେଲେ ଦଳ ଏହାକୁ ଗୋଲରେ ପରିଣତ କରିପାରି ନଥିଲା। ଆର୍ଜେଣ୍ଟିନା ଏହି କ୍ୱାର୍ଟରରେ ଗୋଲ କରିବାର କୌଣସି ସୁଯୋଗ ପାଇ ନଥିଲା। ଫଳରେ ପ୍ରଥମ କ୍ୱାର୍ଟର ଗୋଲ ଶୂନ୍ୟ ରହିଥିଲା। ଦ୍ୱିତୀୟ କ୍ୱାର୍ଟରରେ ଆର୍ଜେଣ୍ଟିନା ଆକ୍ରମଣ କରିଥିଲା। ଦଳକୁ ୧୭ତମ ମିନିଟ୍‌ରେ ମିଳିଥିବା ପେନାଲ୍ଟି କର୍ଣ୍ଣରକୁ ଗଞ୍ଜାଲୋ ପିଏଲେଟ୍‌ ଗୋଲରେ ପରିଣତ କରି ଦଳକୁ ୧-୦ରେ ଆଗୁଆ କରିଦେଇଥିଲେ। ଦ୍ୱିତୀୟ କ୍ୱାର୍ଟର ଶେଷ ହେବାକୁ ୩ ମିନିଟ୍‌ ବାକି ଥିବା ବେଳେ ଇଂଲଣ୍ଡ ପକ୍ଷରୁ ମିଡିଲ୍‌ଟନ୍‌ ଗୋଲ ସ୍କୋର କରି ସ୍ଥିତି ବରାବର କରି ଦେଇଥିଲେ। ହାଫଟାଇମ୍‌ ପରେ ୧-୧ରୁ ଖେଳ ଆରମ୍ଭ ହୋଇଥିଲା। ତୃତୀୟ କ୍ୱାର୍ଟର ଆରମ୍ଭରୁ କଡ଼ା ଟକ୍କର ଦେଖିବାକୁ ମିଳିଥିଲା। ତୃତୀୟ କ୍ୱାର୍ଟରର ଶେଷ ମିନିଟ୍‌ରେ ଇଂଲଣ୍ଡ ପକ୍ଷରୁ ୱିଲ କାଲନନ୍‌ ଫିଲ୍ଡ ଗୋଲ ଦେଇ ମ୍ୟାଚ୍‌ରେ ପ୍ରଥମ ଥର ପାଇଁ ଦଳକୁ ଅଗ୍ରଣୀ କରି ଦେଇଥିଲେ। ୪ର୍ଥ କ୍ୱାର୍ଟରରେ ଆର୍ଜେଣ୍ଟିନା ସ୍ଥିତି ବରାବର କରିବାକୁ ଜୋରଦାର ଉଦ୍ୟମ କରିଥିଲା। ଦଳକୁ ୪୮ତମ ମିନିଟ୍‌ରେ ମିଳିଥିବା ଏକ ପେନାଲ୍ଟି କର୍ଣ୍ଣରକୁ ଗଞ୍ଜାଲୋ ଗୋଲରେ ପରିଣତ କରି ସ୍ଥିତି ୨-୨ରେ ବରାବର କରିଥିଲେ। ଏହାର ଗୋଟିଏ ମିନିଟ୍‌ ପରେ ଇଂଲଣ୍ଡ ପକ୍ଷରୁ ମାର୍ଟିନ ଗୋଲ କରି ପୁଣି ଦଳକୁ ୩-୨ରେ ଆଗୁଆ କରି ଦେଇଥିଲେ। ଆର୍ଜେଣ୍ଟିନା ଶେଷ ୫ମିନିଟ୍‌ରେ କମ୍‌ବ୍ୟାକ୍‌ କରିବାକୁ ଉଦ୍ୟମ କରିଥିଲେ ହେଁ ଇଂଲଣ୍ଡର ଡିଫେନ୍ସ ସବୁ ଉଦ୍ୟମକୁ ନିଷ୍ଫଳ କରି ଦେଇଥିଲା।

Entertainment

  • 111 किरदारों को निभा कर, रचा अनूठा इतिहास - इंडिया बुक ऑफ़ रिकार्ड्स किया अपने नाम

    111 किरदारों को निभा कर, रचा अनूठा इतिहास - इंडिया बुक ऑफ़ रिकार्ड्स किया अपने नाम

    Root News of India 2018-12-13 14:21:52

    नई दिल्ली, 13 दिसंबर (आरएनआई)। रंगा बदूक ट्रस्ट, बंगलुरु ऐमचूर थिएटर टीम ने "जनक जाते जानकी" नामक नाटक के द्वारा कला के क्षेत्र में एक साथ 3 रिकॉर्ड कायम करके इतिहास रचा। यह नाटक वाल्मिकी रामायण पर आधारित है, सम्पूर्ण वाल्मिकी रामायण पुर्षोत्तम पर्व नामक नाटक के रूप में डॉ. एस.एल. एन स्वामी द्वारा लिखा और साथ ही इसका संकल्पना और निर्देशन भी किया। यह नाटक एक व्यक्ति नाटक है "जनक जाते जानकी" कला का प्रदर्शन रविंदर कला क्षेत्र जे . सि रोड , बेंगलुरु मे किया गया। हेलन मैसोर द्वारा एक से ज्यादा किरदार निभाए गये। ऐसा पहली बार हुआ है की 2 घंटे 45 मिनट के नाटक मे 111 किरदार निभाए गए हो और वह भी किसी महिला द्वारा। इसके साथ ही उन्होंने 3 रिकॉर्ड में नाम दर्ज करके इतिहास भी रचा जो की इस प्रकार है - (1) मोस्ट कॅरक्टर परफोर्मेड बय वुमन इन सिंगल एक्ट , (2) फर्स्ट एक्ट टु डिपिक्ट एंटायर लाइफ ऑफ़ सीता (3) लांगेस्ट ड्यूरेशॅन वन वुमन शो।

POLITICS

  • সরকারের অনুমতির অপেক্ষায় বিজেপির রথ

    সরকারের অনুমতির অপেক্ষায় বিজেপির রথ

    Root News of India 2018-12-14 15:25:20

    কলকাতা : ৩ রাজ্যে ভরাডুবির পরও বাংলার মসনদ কে বিশেষ গুরুত্ব দিচ্ছেন বিজেপির শীর্ষস্থানীয় নেতৃত্ব। ৩ রাজ্যে ক্ষমতা হারানোর পর দেশের প্রতিটা রাজ্য থেকে শীর্ষ নেতাদের নিয়ে ডাকা বৈঠকে কার্যত হাজির ছিলেন না বাংলার নেতৃত্ব, তারা ব্যস্ত ছিলেন বিজেপির রথ যাত্রা কে সুনিশ্চিত করতে, ৭ ই ডিসেম্বর রথযাত্রা শুরু হওয়ার কথা ছিলো উত্তর বঙ্গ থেকে, শেষপর্জন্ত রাজ্য প্রশাসনের অনুমতি না পাওয়ায় রথের চাকা আর ঘুরলো না, তড়িঘড়ি অনুমতি পাওয়ার প্রচেষ্টায় হাইকোর্টের দরজায় হাজির হয় রাজ্য বিজেপি, কোর্টের পক্ষ থেকে জানানো হয় রাজ্য প্রশাসনিক কর্তাদের সাথে আলোচনা করে যাত্রার সুনিশ্চিত বিবরন দিতে, রাজ্য প্রশাসনের সাথে আলোচনার জন্য রাজ্য বিজেপির মুকুল রায়,জয়প্রকাশ মজুমদার ও প্রতাপ বন্দোপাধ্যায় কে প্রতিনিধি দল হিসেবে ঠিক করেন, কিন্তু কেন্দ্রীয় নেতৃত্বের নির্দেশে আলোচনার জন্য রাজ্য বিজেপি সভাপতি দিলিপ ঘোষ ও রাজ্যের কেন্দ্রীয় দ্বায়িত্ব প্রাপ্ত কৈলাশ বিজয় বর্গীয় র উপর দ্বায়িত্ব পরে,

PHOTOS

VIDEOS


  • ಇನ್ನೂ ೩ ಜಿಲ್ಲೆಗಳು ಆಗಬೇಕು.

    ಬೆಳಗಾವಿ:- ಅಧಿವೇಶನ ನಡೆದಾಗ ಕುಡಚಿ ಮತಕ್ಷೇತ್ರದ ಶಾಸಕ ಪಿ.ರಾಜೀವ್ ಬೆಳಗಾವಿ ಜಿಲ್ಲೆಯ ವಿಬೋಜನೆಯಾಗಿ, ಚಿಕ್ಕೋಡಿ, ಗೋಕಾಕ ,ಅಥಣಿ ಇವೂ ಮೂರು ಜಿಲ್ಲೆಯನಾಗಿ ಮಾಡಬೇಕು ಅಂತಾ ನನ್ನ ಹೋರಾಟ ಇದೆ.

Meditation

  • Nilagiri Turns Tourist Hotspot As Winter Sets In

    Nilagiri Turns Tourist Hotspot As Winter Sets In

    Laxmikanta Nath 2018-12-14 16:14:33

    Bhubaneswar December 14 (RNI) : Every year, with the onset of winter, Nilagiri area of the district turns into a perfect destination for thousands of tourists. Panchalingeswara temple which is situated on the hilltop of the Eastern Ghats in the area becomes flooded with tourists from all around the state. The famous shrine is a beautiful place for darshan of the Lord Shiva. Surrounded by serene natural landscapes, the place offers tourists great experience of sightseeing and picnic. Moreover, a stream running down the hill is another attraction where tourists enjoy bathing and also offer prayers to the deity. Through the Nilagiri state highways, tourists can take the narrow road that leads straight into the Kuldiha Wildlife Sanctuary which is an integral part of tourism in northern Odisha. Filled with wide range of flora and fauna, sanctuary provides an experience of a lifetime to tourists who come here to enjoy the natural paradise. Besides, Panchalingeswar temple, the Jagannath temple and Guhuribal dam situated nearby also catch the attention of the tourists. Special arrangements for boating and bird watching have been made in the Guhuribal dam while provisions for lodging have also been made by the forest department for facilitating night stay. A visit to this place gives us a wonderful feeling. The rich combination of flora and fauna of this area is like no other,” said Prasanna Chakraborty, a tourist from West Bengal. “This place boasts of natural beauty and is surrounded with a number of tourist destinations. Tourists generally love to stay here for 2-3 days, “said tourist guide Manoranjan Das.

EDITORS PICK

  • नही जले अलाव, ठिठुरन बढी

    नही जले अलाव, ठिठुरन बढी

    Anand Mohan Pandey 2018-12-12 16:31:09

    शाहजहांपुर, 12 दिसंबर (आरएनआई)। सर्दियो की शुरूआत होने पर जनपद में अभी तक अलाव की व्यवस्था नही की गई है जनपद के व्लाक व तहसीलो में प्रशासन द्धारा अलाव की वयवस्था न कराए जाने से नागरिक परेशान है जाडे के मौसम में अलाव की व्यवस्था पूरे जनपद में कराई जाती रही है जनपद में शीत लहर चलने से मौसम एकदम वदलाव होने से सर्दी ने आम आदमी को गरम कपडो पहनने के लिए मजवूर कर दिया सरकार अलाव लगाने के लिए अतिरिक्त धन की व्यवस्था करती रही है किन्तु जिला प्रशासन ने अभी तक इस ओर कोई ठोस कदम नही उठाए है

Home | Privacy Policy | Terms & Condition | Why RNI?