HIGHLIGHTS


터키,러시아,이란 3국 정상 시리아 안전문제 논의

Root News of India 2019-09-17 13:07:16    INTERNATIONAL 6019
터키,러시아,이란 3국 정상 시리아 안전문제 논의
터키와 러시아,이란 등 3국 정상이 16일 터키 수도 앙카라에서 회담을 가지고 시리아 안전문제를 중점적으로 논의했습니다. 그들은 시리아 서북부 이들리브 지역에서 장기적인 휴전을 실현해야 한다고 강조했습니다.

에르도안 터키 대통령과 푸틴 러시아 대통령,루하니 이란 대통령이 이날 아스타나 프로세스 틀내에서의 포럼을 진행했습니다. 에르도안 대통령은 공동기자회견에서 시리아 이들리브 지역 긴장정세의 격화가 이번 회담의 토론 중점이라고 소개했습니다.

그는 올해 4월이래 이미 1000여명 민간인이 이 지역에서 발생한 공중 혹은 지면 군사행동에서 사망했다면서 과격단체 "이슬람국가" 타격을 구실로 테러분자를 지지하는것을 받아들일수 없다고 말했습니다. 그는 터키와 러시아, 이란은 시리아의 평화실현을 위해 더욱 많은 책임을 짊어져야 한다고 강조했습니다.

에르도안 대통령은 또 3개국 정상은 기타 조치를 취해 이들리브 지역에서 전란으로 인해 새로운 한차례 인도주의 위기가 발생하는것을 방지하는데 동의했다고 소개했습니다. 그는 또 동시에 대량의 난민이 접경지역을 통해 터키에 유입되는것을 피면해야 한다고 말했습니다.

에르도안 대통령은 3개국 정상은 시리아의 영토완정을 수호하는것이 아주 중요하고 시리아 경내 쿠르드 무장이 시리아 안전을 위협하는 최대 요소라는데 공감했다고 말했습니다. 그는 3개국 정상은 또 시리아 헌법 위원회 조직구성을 추동해 시리아 문제 해결의 장기적 메커니즘을 형성하는데 동의했다고 소개했습니다.



출처:cri









Related News

International

भारत में बहुत तेजी से नहीं फैल रहा कोरोना लेकिन जोखिम बरकरार : डब्ल्यूएचओ
Root News of India 2020-06-06 09:00:47
जिनेवा, 6 जून 2020, (आरएनआई)। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने शुक्रवार को कहा कि भारत में कोरोना वायरस मामलों की संख्या हर तीन सप्ताह में दोगुनी हो रही है लेकिन महामारी दक्षिण एशिया क्षेत्र में तेजी से नहीं फैल रही है लेकिन इसका जोखिम बना हुआ है। ऐसे में सतर्क रहने की जरूरत है।
कोरोना वैक्सीन को लेकर बोले अमेरिकी राष्ट्रपति, जल्द दे सकते हैं 'अच्छी खबर'
Root News of India 2020-06-06 09:00:33
वाशिंगटन, 6 जून 2020, (आरएनआई)। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित देश अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि वह इस बेहद संक्रामक जानलेवा बीमारी की वैक्सीन को लेकर जल्द ही बड़ी खबर दे सकते हैं। डोनाल्ड ट्रंप ने कहा, 'हमने कल (गुरुवार को) वैक्सीन को लेकर एक बैठक की थी, इसमें हम बहुत अच्छा कर रहे हैं। हम जल्द ही कोई अच्छी खबर दे सकते हैं। वैक्सीन को विकसित करने को लेकर उम्मीद से बेहतर प्रगति हुई है।'
संयुक्त राष्ट्र / सुरक्षा परिषद में सीट सुरक्षित करने के लिए भारत ने कैंपेन लॉन्च किया, विदेश मंत्री बोले- वैश्विक महामारी के समय हमारी भूमिका अहम
Root News of India 2020-06-06 08:22:45
नई दिल्ली, 6 जून 2020, (आरएनआई)। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की पांच अस्थायी सीटों के लिए 17 जून को चुनाव कराए जाएंगे। एशिया प्रशांत खंड की सीट के लिए भारत की जीत पक्की मानी जा रही है। वहीं, भारत ने इस चुनाव के लिए अपनी तैयारी शुरू कर दी है। 
हांगकांग में हंगामे के बाद विवादित बिल पास
Root News of India 2020-06-06 07:38:10
बीजिंग, 6 जून 2020, (आरएनआई)। चीन के खिलाफ लगातार हो रहे विरोध प्रदर्शन के बीच गुरुवार को हांगकांग की विधायिका ने विवादस्पद विधेयक को मंजूरी दे दी। इसके साथ ही अब हांगकांग में चीनी राष्ट्रगान का अपमान करना गैरकानूनी होगा।
अलकायदा के साथ संबंध बरकरार रखेगा तालिबान, यूएन की रिपोर्ट में खुलासा
Root News of India 2020-06-03 08:16:43
वॉशिंगटन, 3 जून 2020, (आरएनआई)। अफगानिस्तान में सक्रिय तालिबान ने अमेरिका से किए गए शांति समझौते में आतंकवादी समूहों से लड़ने की प्रतिबद्धता जताई है, लेकिन अलकायदा के आतंकवादी नेटवर्क से उसके अब भी करीबी संबंध हैं। यह खुलासा संयुक्त राष्ट्र द्वारा मंगलवार (2 जून) को जारी एक रिपोर्ट में हुआ है। कतर में इस साल फरवरी में अमेरिका और तालिबान ने एक समझौता किया जिसमें 19 साल की लंबी लड़ाई के बाद अमेरिकी सैनिकों की अफगानिस्तान से वापसी के साथ-साथ देश के राजनीतिक भविष्य तय करने के लिए अफगानिस्तान के विभिन्न गुटों के बीच बातचीत का रास्ता बनाने का प्रावधान है।
17 जून को होंगे संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के चुनाव
Root News of India 2020-06-02 12:59:11
संयुक्त राष्ट्र, 2 जून 2020, (आरएनआई)। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की पांच अस्थायी सीटों के लिये चुनाव 17 जून को कराये जायेंगे। विश्व निकाय के अंतरिम कार्यक्रम में इसकी जानकारी दी गयी है । सोमवार को जारी सुरक्षा परिषद के इस महीने के अनौपचारिक अंतरिम कार्यक्रम के अनुसार सुरक्षा परिषद के चुनाव 17 जून को कराये जायेंगे । फ्रांस ने इसी दिन 15 देशों की इस परिषद की अध्यक्षता संभाली थी। एशिया प्रशांत खंड में 2021—22 के कार्यकाल के लिये भारत इस अस्थायी सीट के लिए उम्मीदवार है। उसकी जीत तय है क्योंकि इस खंड में भारत एकमात्र सीट पर अकेला दावेदार है। भारत की उम्मीदवारी को चीन और पाकिस्तान समेत 55 देशों के एशिया-प्रशांत समूह ने पिछले साल जून में सर्वसम्मति से समर्थन दिया था। महासभा ने पिछले हफ्ते कोरोना महामारी के कारण प्रतिबंधों को ध्यान में रखते हुए नई मतदान व्यवस्था के तहत सुरक्षा परिषद चुनाव कराने का निर्णय लिया था। मतदान के तौर तरीकों में किसी प्रकार का बदलाव भारत की संभावनाओं को बहुत प्रभावित नहीं करेगा क्योंकि एशिया प्रशांत क्षेत्र से वह एकमात्र उम्मीदवार है और इसका कार्यकाल जनवरी 2021 से शुरू होगा । संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के चुनाव महासभा के हॉल में होते हैं और इस दौरान सभी 193 सदस्य गुप्त बैलेट के जरिये अपने मताधिकार का इस्तेमाल करते हैं। कोविड-19 के कारण वैश्विक निकाय के मुख्यालय में जून के अंत तक की सभी बैठकें स्थगित कर दी गयी है । नयी व्यवस्था के तहत महासभा के अध्यक्ष तिज्जानी मुहम्मद बंदे सभी सदस्य देशों को एक पत्र लिखेंगे । यह पत्र पहले राउंड के गुप्त बैलेट मतदान से कम से कम दस कार्य दिवस पहले लिखा जाएगा, जिसमें सदस्यों को चुनाव की तारीख, रिक्त सीटों की संख्या, मतदान स्थल और आने जाने की सुविधाओं के बारे में विस्तृत जानकारी दी जायेगी। कनाडा, आयरलैंड एवं नॉर्वे ‘पश्चिम यूरोप एवं अन्य देशों’ की श्रेणी में दो सीटों के लिए दावेदार हैं । दूसरी ओर ‘लातिन अमेरिका एवं कैरेबियाई देश’ श्रेणी से मेक्सिको एकमात्र उम्मीदवार है । केन्या एवं दजिबाउती अफ्रीकी समूह से मैदान में हैं । इससे पहले भारत अस्थायी सीटों पर परिषद के सदस्य के तौर पर 1950—1951, 1967—1968, 1972—1973, 1977—1978, 1984—1985, 1991—1992 तथा हाल में 2011—2012 पर निर्वाचित हो चुका है।
माइक्रोसॉफ्ट ने इंसानों का काम आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस को सौंपा
Root News of India 2020-06-01 09:16:36
वाशिंगटन, 1 जून 2020, (आरएनआई)। विश्व की टॉप सॉफ्टवेयर कम्पनी माइक्रोसॉफ्ट ने अब इनसानों की जगह आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से काम लेना शुरू कर दिया है। ये कदम माइक्रोसॉफ्ट की व्यापक योजना के तहत उठाया गया है जिसमें कंपनी अब आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का इस्तेमाल अधिकाधिक करेगी। माइक्रोसॉफ्ट का कहना कि उसके फैसले का वर्तमान महामारी से कोई लेना देना नहीं है।
77 دن کے بعد مسجد نبوی اور ملک بھر میں باجماعت نماز
Ashhar Hashimi 2020-05-31 16:48:15
مسجد نبوی سمیت سعودی عرب کی بیشتر مساجد آج نمازیوں کے لیے کھول دی گئیں جہاں 77 دن کے بعد فجر کی باجماعت نماز روح پرور ماحول ادا کی گئی ہے۔
भारी विरोध के बीच चीन की संसद ने विवादित हांगकांग सुरक्षा विधेयक पारित किया
Root News of India 2020-05-28 14:26:45
बीजिंग, 28 मई 2020, (आरएनआई)। चीन की संसद ने बृहस्पतिवार को हांगकांग के लिए एक नए विवादास्पद सुरक्षा कानून को मंजूरी दे दी जिससे पूर्व ब्रिटिश कॉलोनी में बीजिंग के अधिकार को कमजोर करना एक अपराध हो जाएगा.
चीन के प्रस्तावित सख्त राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के खिलाफ हांगकांग में विरोध प्रदर्शन
Root News of India 2020-05-24 15:39:50
हांगकांग, 24 मई 2020, (आरएनआई)। चीन द्वारा प्रस्तावित विवादित राष्ट्रीय सुरक्षा कानून को लेकर हांगकांग में विरोध प्रदर्शन लगातार बढ़ रहे हैं। वहीं चीन भी इन प्रदर्शनों की दबाने की पूरी कोशिश कर रहा है। रविवार को भी चीन के इस विवादित कानून के खिलाफ हांगकांग में सड़कों पर उतरे सैकड़ों लोगों पर स्थानीय पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे।   
पत्रकार जमाल ख़शोगी के बेटों ने पिता के हत्यारों को किया माफ
Root News of India 2020-05-24 08:00:25
दुबई, 24 मई 2020, (आरएनआई)। वॉशिंगटन पोस्ट के स्तंभकार रहे पत्रकार जमाल ख़शोगी के बेटों ने शुक्रवार को घोषणा की कि उन्होंने अपने पिता के हत्यारों को माफ कर दिया है, जिससे सऊदी अरब के पांच सरकारी एजेंटों की मौत की सजा पर रोक लग गई है.
भूकंप के झटकों से हिला नेपाल
Root News of India 2020-05-21 09:11:25
काठमांडू, 21 मई 2020, (आरएनआई)। नेपाल के भक्तपुर जिले के अनंतलिंगेश्वर के आसपास गुरुवार सुबह 8.14 बजे भूकंप के झटके महसूस किए गए। रिक्टर स्केल पर इस भूकंप की तीव्रता 3.4 मापी गई। नेपाल के राष्ट्रीय भूकंप केंद्र ने इस बात की जानकारी दी है। 
लॉकडाउन के दौरान दुनियाभर में कार्बन उत्सर्जन में आई गिरावट
Root News of India 2020-05-21 08:01:36
केंसिंग्टन, 21 मई 2020, (आरएनआई)। कोरोना वायरस वैश्विक महामारी को फैलने से रोकने के लिए दुनियाभर में लगाए लॉकडाउन के कारण पिछले महीने दुनियाभर में कार्बन डाइऑक्साइड के रोजाना होने वाले उत्सर्जन में 17 प्रतिशत तक की कमी आई है। एक नए अध्ययन में यह जानकारी दी गई है।
मंदी, बेरोजगारी और संरक्षणवाद सबसे बड़ा संकट: डब्ल्यूईएफ
Root News of India 2020-05-21 08:01:25
जिनेवा, 21 मई 2020, (आरएनआई)। कोरोना महामारी का दौर खत्म होने के बाद दुनियाभर मेें मंदी, बेरोजगारी और संरक्षणवाद की चिंताएं बढ़ेंगी और नई संक्रमण बीमारियां पैदा होने का भी जोखिम रहेगा। विश्व आर्थिक मंच (डब्ल्यूईएफ) ने मंगलवार को बताया कि कंपनियों के लिए फिलहाल ये सबसे बड़ी समस्याएं होंगी।
डब्ल्यूएचओ की चेतावनी खुले में कीटाणुनाशक के छिड़काव से हो सकता है स्वास्थ्य का खतरा
Root News of India 2020-05-19 09:34:23
जिनेवा, 19 मई 2020, (आरएनआई)। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने चेतावनी दी है कि खुले में कीटाणुनाशक (डिसइन्फेक्टेंट) छिड़कने से कोरोना वायरस नहीं मरता है। ऐसा करना लोगों के स्वास्थ्य के लिए खतरनाक हो सकता है। डब्ल्यूएचओ का कहना है कि गलियों और बाजारों में डिसइन्फेक्टेंट स्प्रे या फ्यूमिगेशन करने से इसलिए फायदा नहीं होता है क्योंकि धूल और गंदगी की वजह से वह निष्क्रिय हो जाते हैं।
भारत की मदद के लिए विश्व बैंक ने खोली तिजोरी
Root News of India 2020-05-15 13:25:35
नई दिल्ली, 15 मई 2020, (आरएनआई)। कोरोना संकट में भारत की सहायता के लिए विश्व बैंक ने अपनी तिजोरी खोल दी है. उसने भारत को एक बार फिर एक अरब डॉलर यानी करीब 7500 करोड़ रुपये की सहायता देने को मंजूरी दी है. कोरोना संकेट के बीच विश्व बैंक की ओर से भारत को दी जाने वाली सहायता की यह दूसरी किश्त है. पिछले महीने भारत के स्वास्थ्य क्षेत्र की मदद के लिए एक अरब अमेरिकी डालर यानी 7500 करोड़ रुपये की सहायता देने की घोषणा की गई थी.
कोरोना से बाल अधिकारों पर संकट: यूनिसेफ
Root News of India 2020-05-14 10:00:35
संयुक्त राष्ट्र, 14 मई 2020, (आरएनआई)। संयुक्त राष्ट्र (यूएन) की बाल एजेंसी ने चेतावनी देते हुए कहा है कि अगले छह महीने में अतिरिक्त छह हजार बच्चों की रोजाना मौत ठीक होने वाली बीमारियों की वजह से हो सकती है। ऐसा कोरोना वायरस महामारी की वजह से कमजोर हुई स्वास्थ्य प्रणाली और नियमित सेवाएं बाधित होने के कारण है।
कोरोना महामारी पर कब तक नियंत्रण पाया जा सकेगा यह अनुमान लगाना असंभव: डब्ल्यूएचओ
Root News of India 2020-05-14 10:00:30
जिनेवा, 14 मई 2020, (आरएनआई)। विश्व स्वास्थ्य संगठन के आपात परिस्थिति संबंधी प्रमुख ने कहा है कि यह अनुमान लगाना असंभव है कि वैश्विक महामारी पर कब तक नियंत्रण पाया जा सकेगा। डॉ. माइकल रयान ने बुधवार को एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘संभवत: यह वायरस कभी न जाए।’ उन्होंने कहा कि कोविड-19 से संक्रमित लोगों की संख्या अभी तक कम है।
डब्लूएचओ ने चेताया...तीन सवालों का जवाब खोजकर ही खोलें लॉकडाउन
Root News of India 2020-05-14 10:00:24
जिनेवा, 14 मई 2020, (आरएनआई)। कोरोना महामारी से निपटने के लिए जारी लॉकडाउन के चलते दुनियाभर की अर्थव्यवस्था गर्त में जा चुकी है। ऐसे में इस त्रासदी से जूझ रहे कई देशों ने अर्थव्यवस्था पटरी पर लाने के लिए लॉकडाउन में ढील देनी शुरू की है।
WHO को आशंका, शायद कभी खत्म न हो कोरोना वायरस का खतरा
Root News of India 2020-05-14 09:06:28
जिनेवा, 14 मई 2020, (आरएनआई)। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने आशंका जाहिर की है कि कोरोना वायरस से जुड़ी बीमारी ऐसी हो सकती है जो कभी खत्म न हो. WHO ने कहा है कि हो सकता है कि कोरोना वायरस समुदायों के बीच बना रहे जिसका भविष्य में कभी खात्मा न हो.

Top Stories

Home | Privacy Policy | Terms & Condition | Why RNI?
Positive SSL