HIGHLIGHTS


British Parliament rejects PM Boris Johnson's attempt to fast-track Brexit deal

Root News of India 2019-10-23 09:06:42    INTERNATIONAL 4539
British Parliament rejects PM Boris Johnson's attempt to fast-track Brexit deal
London, 23 October 2019, (RNI): British Prime Minister Boris Johnson’s plan to fast-track his Brexit deal through Parliament in time for 31st of October deadline was blocked by MPs last night even after he threatened to pull it and press for a general election.

The lawmakers rejected the three-day deadline for debating the Brexit Bill after passing it in principle. They voted against wrapping up the debate on Thursday by 322 to 308. This was against the wishes of Prime Minister Boris Johnson, who said, he was pausing the legislation until he had spoken to European Union leaders. The Commons supported the Withdrawal Agreement Bill earlier, but voted against the short time-table. Earlier, the bill had cleared the first Parliamentary hurdle, with MPs backing it 329 votes to 299. It effectively meant Johnson's Brexit Withdrawal Agreement with the EU could become law, but the MPs then voted 322 to 308 against the sped-up timetable for the bill.

Expressing his disappointment, Mr Johnson said, they now face further uncertainty. He said, approval for the time-table would have guaranteed that the UK would be in a position to leave the EU on 31st of October with a deal. Mr Johnson had earlier threatened to pull the bill and seek a General Election instead of delaying Brexit beyond the October 31 deadline.

Meanwhile, in a tweet, the President of the European Council Donald Tusk said last night that he will recommend to EU leaders that they postpone Brexit beyond the current deadline.










Related News

International

17 जून को होंगे संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के चुनाव
Root News of India 2020-06-02 12:59:11
संयुक्त राष्ट्र, 2 जून 2020, (आरएनआई)। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की पांच अस्थायी सीटों के लिये चुनाव 17 जून को कराये जायेंगे। विश्व निकाय के अंतरिम कार्यक्रम में इसकी जानकारी दी गयी है । सोमवार को जारी सुरक्षा परिषद के इस महीने के अनौपचारिक अंतरिम कार्यक्रम के अनुसार सुरक्षा परिषद के चुनाव 17 जून को कराये जायेंगे । फ्रांस ने इसी दिन 15 देशों की इस परिषद की अध्यक्षता संभाली थी। एशिया प्रशांत खंड में 2021—22 के कार्यकाल के लिये भारत इस अस्थायी सीट के लिए उम्मीदवार है। उसकी जीत तय है क्योंकि इस खंड में भारत एकमात्र सीट पर अकेला दावेदार है। भारत की उम्मीदवारी को चीन और पाकिस्तान समेत 55 देशों के एशिया-प्रशांत समूह ने पिछले साल जून में सर्वसम्मति से समर्थन दिया था। महासभा ने पिछले हफ्ते कोरोना महामारी के कारण प्रतिबंधों को ध्यान में रखते हुए नई मतदान व्यवस्था के तहत सुरक्षा परिषद चुनाव कराने का निर्णय लिया था। मतदान के तौर तरीकों में किसी प्रकार का बदलाव भारत की संभावनाओं को बहुत प्रभावित नहीं करेगा क्योंकि एशिया प्रशांत क्षेत्र से वह एकमात्र उम्मीदवार है और इसका कार्यकाल जनवरी 2021 से शुरू होगा । संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के चुनाव महासभा के हॉल में होते हैं और इस दौरान सभी 193 सदस्य गुप्त बैलेट के जरिये अपने मताधिकार का इस्तेमाल करते हैं। कोविड-19 के कारण वैश्विक निकाय के मुख्यालय में जून के अंत तक की सभी बैठकें स्थगित कर दी गयी है । नयी व्यवस्था के तहत महासभा के अध्यक्ष तिज्जानी मुहम्मद बंदे सभी सदस्य देशों को एक पत्र लिखेंगे । यह पत्र पहले राउंड के गुप्त बैलेट मतदान से कम से कम दस कार्य दिवस पहले लिखा जाएगा, जिसमें सदस्यों को चुनाव की तारीख, रिक्त सीटों की संख्या, मतदान स्थल और आने जाने की सुविधाओं के बारे में विस्तृत जानकारी दी जायेगी। कनाडा, आयरलैंड एवं नॉर्वे ‘पश्चिम यूरोप एवं अन्य देशों’ की श्रेणी में दो सीटों के लिए दावेदार हैं । दूसरी ओर ‘लातिन अमेरिका एवं कैरेबियाई देश’ श्रेणी से मेक्सिको एकमात्र उम्मीदवार है । केन्या एवं दजिबाउती अफ्रीकी समूह से मैदान में हैं । इससे पहले भारत अस्थायी सीटों पर परिषद के सदस्य के तौर पर 1950—1951, 1967—1968, 1972—1973, 1977—1978, 1984—1985, 1991—1992 तथा हाल में 2011—2012 पर निर्वाचित हो चुका है।
माइक्रोसॉफ्ट ने इंसानों का काम आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस को सौंपा
Root News of India 2020-06-01 09:16:36
वाशिंगटन, 1 जून 2020, (आरएनआई)। विश्व की टॉप सॉफ्टवेयर कम्पनी माइक्रोसॉफ्ट ने अब इनसानों की जगह आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से काम लेना शुरू कर दिया है। ये कदम माइक्रोसॉफ्ट की व्यापक योजना के तहत उठाया गया है जिसमें कंपनी अब आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का इस्तेमाल अधिकाधिक करेगी। माइक्रोसॉफ्ट का कहना कि उसके फैसले का वर्तमान महामारी से कोई लेना देना नहीं है।
77 دن کے بعد مسجد نبوی اور ملک بھر میں باجماعت نماز
Ashhar Hashimi 2020-05-31 16:48:15
مسجد نبوی سمیت سعودی عرب کی بیشتر مساجد آج نمازیوں کے لیے کھول دی گئیں جہاں 77 دن کے بعد فجر کی باجماعت نماز روح پرور ماحول ادا کی گئی ہے۔
भारी विरोध के बीच चीन की संसद ने विवादित हांगकांग सुरक्षा विधेयक पारित किया
Root News of India 2020-05-28 14:26:45
बीजिंग, 28 मई 2020, (आरएनआई)। चीन की संसद ने बृहस्पतिवार को हांगकांग के लिए एक नए विवादास्पद सुरक्षा कानून को मंजूरी दे दी जिससे पूर्व ब्रिटिश कॉलोनी में बीजिंग के अधिकार को कमजोर करना एक अपराध हो जाएगा.
चीन के प्रस्तावित सख्त राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के खिलाफ हांगकांग में विरोध प्रदर्शन
Root News of India 2020-05-24 15:39:50
हांगकांग, 24 मई 2020, (आरएनआई)। चीन द्वारा प्रस्तावित विवादित राष्ट्रीय सुरक्षा कानून को लेकर हांगकांग में विरोध प्रदर्शन लगातार बढ़ रहे हैं। वहीं चीन भी इन प्रदर्शनों की दबाने की पूरी कोशिश कर रहा है। रविवार को भी चीन के इस विवादित कानून के खिलाफ हांगकांग में सड़कों पर उतरे सैकड़ों लोगों पर स्थानीय पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे।   
पत्रकार जमाल ख़शोगी के बेटों ने पिता के हत्यारों को किया माफ
Root News of India 2020-05-24 08:00:25
दुबई, 24 मई 2020, (आरएनआई)। वॉशिंगटन पोस्ट के स्तंभकार रहे पत्रकार जमाल ख़शोगी के बेटों ने शुक्रवार को घोषणा की कि उन्होंने अपने पिता के हत्यारों को माफ कर दिया है, जिससे सऊदी अरब के पांच सरकारी एजेंटों की मौत की सजा पर रोक लग गई है.
भूकंप के झटकों से हिला नेपाल
Root News of India 2020-05-21 09:11:25
काठमांडू, 21 मई 2020, (आरएनआई)। नेपाल के भक्तपुर जिले के अनंतलिंगेश्वर के आसपास गुरुवार सुबह 8.14 बजे भूकंप के झटके महसूस किए गए। रिक्टर स्केल पर इस भूकंप की तीव्रता 3.4 मापी गई। नेपाल के राष्ट्रीय भूकंप केंद्र ने इस बात की जानकारी दी है। 
लॉकडाउन के दौरान दुनियाभर में कार्बन उत्सर्जन में आई गिरावट
Root News of India 2020-05-21 08:01:36
केंसिंग्टन, 21 मई 2020, (आरएनआई)। कोरोना वायरस वैश्विक महामारी को फैलने से रोकने के लिए दुनियाभर में लगाए लॉकडाउन के कारण पिछले महीने दुनियाभर में कार्बन डाइऑक्साइड के रोजाना होने वाले उत्सर्जन में 17 प्रतिशत तक की कमी आई है। एक नए अध्ययन में यह जानकारी दी गई है।
मंदी, बेरोजगारी और संरक्षणवाद सबसे बड़ा संकट: डब्ल्यूईएफ
Root News of India 2020-05-21 08:01:25
जिनेवा, 21 मई 2020, (आरएनआई)। कोरोना महामारी का दौर खत्म होने के बाद दुनियाभर मेें मंदी, बेरोजगारी और संरक्षणवाद की चिंताएं बढ़ेंगी और नई संक्रमण बीमारियां पैदा होने का भी जोखिम रहेगा। विश्व आर्थिक मंच (डब्ल्यूईएफ) ने मंगलवार को बताया कि कंपनियों के लिए फिलहाल ये सबसे बड़ी समस्याएं होंगी।
डब्ल्यूएचओ की चेतावनी खुले में कीटाणुनाशक के छिड़काव से हो सकता है स्वास्थ्य का खतरा
Root News of India 2020-05-19 09:34:23
जिनेवा, 19 मई 2020, (आरएनआई)। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने चेतावनी दी है कि खुले में कीटाणुनाशक (डिसइन्फेक्टेंट) छिड़कने से कोरोना वायरस नहीं मरता है। ऐसा करना लोगों के स्वास्थ्य के लिए खतरनाक हो सकता है। डब्ल्यूएचओ का कहना है कि गलियों और बाजारों में डिसइन्फेक्टेंट स्प्रे या फ्यूमिगेशन करने से इसलिए फायदा नहीं होता है क्योंकि धूल और गंदगी की वजह से वह निष्क्रिय हो जाते हैं।
भारत की मदद के लिए विश्व बैंक ने खोली तिजोरी
Root News of India 2020-05-15 13:25:35
नई दिल्ली, 15 मई 2020, (आरएनआई)। कोरोना संकट में भारत की सहायता के लिए विश्व बैंक ने अपनी तिजोरी खोल दी है. उसने भारत को एक बार फिर एक अरब डॉलर यानी करीब 7500 करोड़ रुपये की सहायता देने को मंजूरी दी है. कोरोना संकेट के बीच विश्व बैंक की ओर से भारत को दी जाने वाली सहायता की यह दूसरी किश्त है. पिछले महीने भारत के स्वास्थ्य क्षेत्र की मदद के लिए एक अरब अमेरिकी डालर यानी 7500 करोड़ रुपये की सहायता देने की घोषणा की गई थी.
कोरोना से बाल अधिकारों पर संकट: यूनिसेफ
Root News of India 2020-05-14 10:00:35
संयुक्त राष्ट्र, 14 मई 2020, (आरएनआई)। संयुक्त राष्ट्र (यूएन) की बाल एजेंसी ने चेतावनी देते हुए कहा है कि अगले छह महीने में अतिरिक्त छह हजार बच्चों की रोजाना मौत ठीक होने वाली बीमारियों की वजह से हो सकती है। ऐसा कोरोना वायरस महामारी की वजह से कमजोर हुई स्वास्थ्य प्रणाली और नियमित सेवाएं बाधित होने के कारण है।
कोरोना महामारी पर कब तक नियंत्रण पाया जा सकेगा यह अनुमान लगाना असंभव: डब्ल्यूएचओ
Root News of India 2020-05-14 10:00:30
जिनेवा, 14 मई 2020, (आरएनआई)। विश्व स्वास्थ्य संगठन के आपात परिस्थिति संबंधी प्रमुख ने कहा है कि यह अनुमान लगाना असंभव है कि वैश्विक महामारी पर कब तक नियंत्रण पाया जा सकेगा। डॉ. माइकल रयान ने बुधवार को एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘संभवत: यह वायरस कभी न जाए।’ उन्होंने कहा कि कोविड-19 से संक्रमित लोगों की संख्या अभी तक कम है।
डब्लूएचओ ने चेताया...तीन सवालों का जवाब खोजकर ही खोलें लॉकडाउन
Root News of India 2020-05-14 10:00:24
जिनेवा, 14 मई 2020, (आरएनआई)। कोरोना महामारी से निपटने के लिए जारी लॉकडाउन के चलते दुनियाभर की अर्थव्यवस्था गर्त में जा चुकी है। ऐसे में इस त्रासदी से जूझ रहे कई देशों ने अर्थव्यवस्था पटरी पर लाने के लिए लॉकडाउन में ढील देनी शुरू की है।
WHO को आशंका, शायद कभी खत्म न हो कोरोना वायरस का खतरा
Root News of India 2020-05-14 09:06:28
जिनेवा, 14 मई 2020, (आरएनआई)। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने आशंका जाहिर की है कि कोरोना वायरस से जुड़ी बीमारी ऐसी हो सकती है जो कभी खत्म न हो. WHO ने कहा है कि हो सकता है कि कोरोना वायरस समुदायों के बीच बना रहे जिसका भविष्य में कभी खात्मा न हो.
चीन में दफ्तर खुले, सख्त नियमों में बंधे कर्मचारी
Root News of India 2020-05-14 09:06:23
बीजिंग, 14 मई 2020, (आरएनआई)। चीन में लॉकडाउन खुल गया है, लेकिन कर्मचारियों को नए नियमों के दायरे में जीना पड़ रहा है। कहीं दिन में तीन बार तापमान मापना जरूरी है, तो दस्तावेजों को छूने से पहले और बाद में साबुन से हाथ धोना अनिवार्य है। कई कंपनियों ने सार्वजनिक परिवहन के इस्तेमाल से भी मना कर दिया है। कैब चालकों को गाड़ी सैनिटाइज करते वक्त वीडियो बनाकर भेजना होता है, तो रेस्तरां कर्मचारियों को बाहर नहीं जाने देते। गिने-चुने कर्मचारी ही आ रहे हैं और बाकी को घर से काम करने को कहा गया है। इससे भी बढ़कर सरकारी हैल्थ एप्लीकेशनों पर कर्मचारियों की आवाजाही ट्रैक की जा रही है। विशेषज्ञों का कहना है कि कोरोना के बाद चीन में जनजीवन देखकर अंदाजा लगा सकते हैं कि जब अन्य देशों के लोग काम पर लौटेंगे, तो दुनिया पहले जैसी नहीं रहने वाली है।
पाकिस्तान की सरकारी मीडिया ने जम्मू-कश्मीर के मौसम का पूर्वानुमान देना शुरू किया
Root News of India 2020-05-10 20:25:41
इस्लामाबाद, 10 मई 2020, (आरएनआई)। पाकिस्तान की सरकारी मीडिया ने रविवार को जम्मू-कश्मीर के मौसम की विस्तृत जानकारी देने की शुरुआत की। यह कदम भारत द्वारा पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) के मौसम का पूर्वानुमान जारी करने की शुरुआत के कुछ दिन बाद उठाया गया है। सरकारी रेडियो पाकिस्तान ने रविवार को बताया कि जम्मू-कश्मीर के अधिकतर हिस्सों में आंशिक रूप से बादल छाए रहेंगे और बारिश की संभावना है। इसके साथ ही श्रीनगर, पुलवामा, जम्मू और लद्दाख के अधिकतम और न्यूनतम तापमान की भी जानकारी दी गई है। उल्लेखनीय है कि रेडियो पाकिस्तान कश्मीर की खबरों को विशेष स्थान देता है और उसकी वेबसाइट जम्मू-कश्मीर की खबरों को समर्पित है। सरकारी पाकिस्तान टेलीविजन भी जम्मू-कश्मीर की खबरों को लेकर विशेष बुलेटिन प्रसारित करता है। माना जा रहा है कि भारतीय मीडिया में पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के मौसम की जानकारी देने के बाद पाकिस्तानी मीडिया में कश्मीर को लेकर और अधिक खबरें प्रसारित की जाएगी। पाकिस्तान ने शुक्रवार को भारत द्वारा मीरपुर, मुजफ्फराबाद और गिलगित-बाल्टिस्तान के मौसम की जानकारी देने के कदम को खारिज करते हुए कहा कि इसकी कोई कानूनी मान्यता नहीं है और यह क्षेत्र की स्थिति बदलने की कोशिश है। पाकिस्तान के विदेश विभाग ने अपने बयान में कहा कि पिछले साल भारत द्वारा जारी ‘राजनीतिक मानचित्र’ की तरह इस कदम की भी कोई कानूनी मान्यता नहीं है और यह वास्तविकता के विपरीत और संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के संबंधित प्रस्ताव का उल्लंघन है। गौरतलब है कि भारत ने पिछले साल नवंबर में नया मानचित्र जारी किया था जिसमें पाकिस्तान के कब्जे वाली कश्मीर घाटी को नवगठित जम्मू-कश्मीर केंद्र शासित प्रदेश का हिस्सा जबकि गिलगित-बाल्टिस्तान को केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख के हिस्से के तौर पर दिखाया गया है।
भारत को जुलाई में मिलेगी कोरोना वायरस से राहत : डब्ल्यूएचओ
Root News of India 2020-05-09 12:06:09
नई दिल्‍ली, 9 मई 2020, (आरएनआई)। विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन के खास दूत डॉक्‍टर डेविड नबारो का कहना है कि देश में कोरोना वायरस महामारी का ग्राफ नीचे आने को है। साथ ही उन्‍होंने कहा कि जुलाई में खत्‍म होने से पहले महामारी देश में अपने सर्वोच्‍चतम स्‍तर पर होगी।
भारतीय मौसम विभाग की रिपोर्ट में पीओके का हाल देख चिढ़ा पाकिस्तान
Root News of India 2020-05-09 08:51:15
नई दिल्ली/इस्लामाबाद, 9 मई 2020, (आरएनआई)। भारतीय मौसम विभाग ने अपने मौसम के हाल (वेदर बुलेटिन) में पाक अधिकृत कश्मीर (पीओके) के इलाकों को शामिल किया. शुक्रवार को आईएमडी ने गिलगित-बाल्टिस्तान और मुजफ्फराबाद के मौसम का हाल बताया. भारतीय मौसम विभाग ने अपने इस बुलेटिन में जम्‍मू-कश्‍मीर सब-डिविजन को अब ‘जम्‍मू और कश्‍मीर, लद्दाख, गिलगित-बाल्टिस्‍तान और मुजफ्फराबाद’ कहना शुरू कर दिया है. इस कदम के बाद सोशल मीडिया पर जहां भारतीय यूजर्स इसकी तारीफ कर रहे हैं, वहीं पाकिस्तान ने इस पर कड़ी प्रतिक्रिया दी है.
गरीब देशों के लिए 6.7 अरब डॉलर जरूरी वरना दंगे और भूख से होंगी मौतें : संयुक्त राष्ट्र
Root News of India 2020-05-09 08:51:08
संयुक्त राष्ट्र, 9 मई 2020, (आरएनआई)। कोरोना महामारी के खिलाफ लड़ाई में संयुक्त राष्ट्र ने कमजोर देशों के भीतर जरूरी चीजों के लिए सरकारों, कंपनियों और अरबपतियों से 6.7 अरब डॉलर की निधि का दान करने की अपील की है। एजेंसी ने आगाह किया है कि यदि इस मदद में नाकाम रहे तो भुखमरी की वैश्विक महामारी फैलेगी और अकाल, दंगे व अधिक संघर्ष का दुनिया को सामना करना पड़ सकता है।

Top Stories

Home | Privacy Policy | Terms & Condition | Why RNI?
Positive SSL