HIGHLIGHTS


Endress Hauser India eyes growth in domestic sales

Root News of India 2019-04-17 22:21:11    SPECIAL 2394
Endress Hauser India eyes growth in domestic sales
New Delhi, April 17 (RNI): Endress Hauser India process automation major has steadily evolved from a sensor maker for process automation into a major supplier of complete automation solutions and is eyeing growth in domestic sales in India.

Endress Hauser total revenue from India is around 1,100 crores. Domestic sales account for nearly 30 % (nearly 300 crore) while the remaining (nearly 1,000 crore) comes from exports to South East Asian countries, South Africa and Australia. Domestic sales are estimated to grow to Rs. 800 Crore by 2020-21.

Kailash Desai, CEO, Endress Hauser India says, “We offer comprehensive process solutions for measurement of flow, level, pressure, analysis, temperature, including registration and digital communications, across a wide range of industries. Our offerings optimise process efficiency, provide safe operations and help protect the environment.”

India is a hub of Internet of Things ( IoT) falling next to the US when it comes to market share and ventures running IoT businesses. Endress Hauser company is still evolving and bringing in newer changes for which it requires skilled IoT professionals. The company is a global leader in measurement instrumentation, services and solutions for industrial process engineering.

Endress Hauser aims to tap opportunities for industries and cater to the increasing demands for innovations and technological advancements which aim to modernise the industrial applications. Smart technology is a major driver in the next stage of industry 4.0. With the drastic rise in number of smart factories and digitalization, intelligent products will become a key factor for economic success. Endress Hauser innovative product comes into play, making an important contribution to the continuous process verification and quality control during production that we are aiming for 4.0. Such solutions find use in industries like water and waste water management, food and beverages, life sciences, chemical and oil

Related News

Special

घरबसल्या अपडेट करा 'आधार'
Jeevan Kautik Suralkar 2019-05-19 17:48:59
घरबसल्या अपडेट करा 'आधार'
दलसिंहसराय का बेटा आईएएस अधिकारी ने फेसबुक पर अपनी मार्कशीट शेयर कर कहा बोर्ड परिक्षा में नम्बर, केवल एक नंबर गेम है ।
Kunal Kumar Gupta 2019-05-19 11:31:41
दलसिंहसराय, 19 मई (आरएनआई) | दलसिंहसराय का एक होनहार सख्सियत आज पूरे देश मे छाया हुआ है हो भी क्यो नही दलसिंहसराय की मिट्टी में बड़े बड़े हस्तियो नेे जन्म लिया है ।दलसिंहसराय के निवासी लोकेश कुमार शरण के पुत्र अवनीश कुमार शरण दलसिंहसराय ही नही पूरे बिहार का नाम रौशन कर रहे है । 2009 बैच के आईएएस अधिकारी अवनीश कुमार शरण अभी अपनी सेवा छतीसगढ़ के कबीरधाम जिले के डीएम के रूप में दे रहे है । शुरू से ही वो कुछ अलग करते रहे है जिससे उनका नाम पूरे देश मे महसूस हो गया है । बताते चले कि हाल में बोर्ड परीक्षाओं में उम्मीद के अनुसार नंबर नहीं आने या फिर कम नंबर आने पर छात्र कई बार घातक कदम उठा लेते हैं ।ऐसे ही दुखद घटना पिछले दिनों छत्तीसगढ़ में सामने आई ।छत्तीसगढ़ के रायगढ़ में एक 18 वर्षीय छात्र ने बोर्ड एग्जाम में फेल होने पर खुदकुशी कर ली। मीडिया रिपोर्टस के अनुसार सुसाइड करने वाला छात्र पिछले साल भी बोर्ड परीक्षा में फेल हो गया था ।इस खबर से परेशान होकर 2009 बैच के आईएएस अधिकारी अवनीश कुमार शरण ने फेसबुक पर अपनी मार्कशीट शेयर की है । आईएएस अधिकारी ने फेसबुक पर हाईस्कूल, इंटरमीडिएट और ग्रेजुएशन में प्राप्त खुद के नंबरों शेयर करते हुए छात्रों से कहा कि नंबर कम आने या फिर फेल होने से परेशान न हों और अपनी उम्मीद न छोड़ें ।इससे पहले अवनीश अपनी बेटी को प्राइमरी स्कूल में पढ़ाने और उसके साथ मिड डे मील खाने को लेकर चर्चा में आए थे । उन्होंने फेसबुक पर लिखा कि मैं सभी छात्रों और उनके माता-पिता से अपील करता हूं कि वे परीक्षा परिणामों को गंभीरता से न लें ।यह केवल एक नंबर गेम है। आपको अपनी क्षमताओं को साबित करने के लिए जीवन में और कई मौके मिलेंगे । जिलाधिकारी के अनुसार उन्होंने कक्षा 10वीं में 44.5 फीसदी, 12वीं की परीक्षा में 65 प्रतिशत और स्नातक में 60.7 फीसदी नंबर हासिल किए थे. उन्होंने अपने संदेश में यह भी बताया कि उन्होंने 10वीं की परीक्षा 1996 में, 12वीं की परीक्षा 1998 और स्नातक की डिग्री साल 2002 में पूरी की थी । उनके इस अलग सोच को आज पूरे देश मे तारीफ हो रही है ।उनके पिता लोकेश कुमार शरण बताते है कि जब मेरा बेटा मैट्रिक में कम अंक लाया तो मैंने उसे डाटा नही बल्कि उसे हौसला दिया ।और इसी का परिणाम हुआ कि वह इंटर में 65 प्रतिशत अंक लाया । उन्होंने शहर के राष्ट्रीय उच्य विद्यालय से दसवीं की परीक्षा किये थे ।इस काबिले तारीफ काम से आज पूरा शहर गर्व महसूस कर रहा है ।
Intense heat wave condition hits Normal life across Odisha
Root News of India 2019-05-18 08:32:45
Bhubaneswar, May 18 (RNI): Normal life across Odisha, particularly in western districts, has been paralyzed following an intense heat wave condition, which is prevailing for more than a week.
Adani Dhamra Port organizes Summer Camp
Laxmikanta Nath 2019-05-16 20:35:34
Bhubaneswar, May 16 (RNI): To help students use their time productivity during their summer holidays, Adani Dhamra Port’s Ladies Club known as SANGINEES was organizing a five days long summer camp to teach contemporary life skills, such as Yoga
Irregularities In Road Construction Work Fumes Locals
Laxmikanta Nath 2019-05-16 19:51:29
Bhubaneswar, May 16 (RNI): Alleging irregularities in construction of road, locals allegedly stopped the ongoing construction activities in Tentulidihi gram panchayat of Bhadrak district on Wednesday.The irate residents reportedly stopped the construction of road between Bramhanasahi and Basanti Padia village alleging poor quality of works. They have complained that they had asked the Junior Engineer (JE) to carry out the construction work in his presence. However, the concerned JE did not visit the construction site and sent a delegate instead to oversee the works. Irked over the JE’s action, the locals stopped the construction of the road and demanded a probe into the matter. “We were forced to stop the construction of road as despite complaining about the poor quality of the work, the JE continued the project forcefully. An investigation should be initiated as there are lots of irregularities in the project,” said Upendra Das, a local. “The JE should be present during construction work. However, it did not happen. Besides, the work is of poor quality. We have already apprised the Block Development Officer (BDO) about the matter,” said Niranjan Das, a villager.The Chandbali BDO said that he has directed the JE to ensure proper completion of the project. “Some villagers had come to me with their complaint. I have directed the JE to ensure that the work completes in his presence without any irregularity,” the BDO said.
Delhiites wake up to pleasant morning
Root News of India 2019-05-16 10:12:58
New Delhi, May 16 (RNI): Delhiites woke up to a pleasant morning today, with drizzle witnessed in some parts of the national capital. The MeT department has forecast generally thunderstorm with very light rain, accompanied with lightning and gusty winds. The maximum temperature is expected to settle at 35 degrees Celsius.
Campaigning reaches its peak for last phase of Lok Sabha elections
Root News of India 2019-05-16 06:42:45
New Delhi, May 16 (RNI): Campaigning has reached its peak for the seventh and last phase of Lok Sabha elections.
Campaigning intensifies for final phase of LS Elections
Root News of India 2019-05-15 13:07:12
New Delhi, May 15 (RNI): Top political leaders are holding back-to-back rallies today for the seventh and final phase of Lok Sabha elections to be held on Sunday.
जन्मदिन विशेष - फेसबुक-इंस्टाग्रामचा जनक मार्क झुकरबर्गचा आज वाढदिवस
Jeevan Kautik Suralkar 2019-05-14 19:04:20
जगातील सर्वात लोकप्रिय सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट फेसबुकचा मुख्य कार्यकारी अधिकारी मार्क झुकरबर्गचा आज वाढदिवस. मार्कचा जन्म 14 मे 1984 रोजी, व्हाईट प्लेन्स, न्यूयॉर्क, अमेरिका इथे झाला.
जयंती विशेष - धर्मवीर छत्रपती संभाजी महाराज
Jeevan Kautik Suralkar 2019-05-14 18:55:06
मराठा साम्राज्याचे दुसरे छत्रपती संभाजीराजे भोसले यांची आज जयंती. मराठा साम्राज्य संस्थापक शिवाजी महाराज भोसले यांचे जेष्ठ पुत्र होते.
Campaigning in full swing for last phase of Lok Sabha elections
Root News of India 2019-05-14 11:01:23
New Delhi, May 14 (RNI): Campaigning is in full swing for the seventh and final phase of Lok Sabha Elections.
मौसम आज लेगा करवट, इन जगहों पर आंधी-बारिश की आंशका
Root News of India 2019-05-13 07:14:00
नई दिल्ली, 13 मई (आरएनआई) | उत्तर भारत में गर्मी की मार झेल रहे लोगो के लिए एक और बुरी खबर है, मौसम विभाग ने यूपी और बिहार में आने वाले दिनों में लू का प्रकोप बढ़ने के साथ आंधी-बारिश की भी आंशका जताई है।
रक्तदान करताना काय काळजी घ्यावी ?
Jeevan Kautik Suralkar 2019-05-12 19:45:34
रक्तदान करताना काय काळजी घ्यावी ?
मॉर्निंग हॅबिट’ तुम्हाला बनवतील यशस्वी
Jeevan Kautik Suralkar 2019-05-12 13:11:25
'मॉर्निंग हॅबिट’ तुम्हाला बनवतील यशस्वी
कसा सुरु झाला मदर्स डे ?
Jeevan Kautik Suralkar 2019-05-12 12:05:35
कसा सुरु झाला मदर्स डे ?
मदर्स डे मनाने से नही बल्कि माँ को माँ मानने से बनेगी बात : लक्ष्मी कान्त पाठक
Laxmi Kant Pathak 2019-05-12 08:07:21
हरदोई, 12 मई (आरएनआई) | भारत जैसा विशाल राष्ट्र जहाँ माताओँ का बडा ही उच्च स्थान रहा है। माताओँ की पूजा सेवा उनकी आज्ञाओँ का पालन करना ही पुत्र का एकमेव कर्तव्य हुआ करता था। लेकिन आज के परिवेश मे माँ के प्रति कर्तव्य की परिभाषाा ही बदली बदली नजर आ रही है। आज के दौर मे माताओँ को घोर अपमान से रोज ही दो चार होना पड रहा है। माताओँ को भारत मे शक्ति मानने की परम्परा रही है।
आज राष्ट्रीय तंत्रज्ञान दिवस देशभरात का साजरा केला जातो ?
Jeevan Kautik Suralkar 2019-05-11 20:22:11
आज राष्ट्रीय तंत्रज्ञान दिवस देशभरात का साजरा केला जातो ?
'मदर्स डे स्पेशल' : माँ शब्द एक ऐसे आंख की तरह है जिस से 'सच्चा' 'प्रेम' 'स्नेह' और 'निःस्वार्थ' भाव झलकता है - कुंदन शांडिल्य
Rupesh Kumar 2019-05-11 18:40:09
मुजफ्फरपुर, 11 मई (आरएनआई) | माँ शब्द एक ऐसे आंख की तरह है जिस से सच्चा प्रेम स्नेह और निःस्वार्थ भाव झलकता है बिल्कुल साफ साफ, माँ शब्द एक ऐसा प्रकृतिक यंत्र है जिस से माँ के स्नेह एवं त्याग का पृथ्वी पर दूसरा उदाहरण मिलना सम्भव नहीं है. हमारे शास्त्रों में माँ को देवताओं के समान पूजनीय बताया गया है., माँ जननी है, असहनीय शारीरिक कष्ट के उपरान्त वह शिशु को जन्म देती है.अपनी संतान के सुख के लिए माँ अनेक कष्टों और प्रताड़नाओ को भी सहर्ष स्वीकार कर लेती हैं. अपनी संतान के सुख के लिए माँ अनेक कष्टों और प्रताड़नाओ को भी सहर्ष स्वीकार कर लेती हैं. माँ के बारे में जितना बोलू कम पड़ जाए मेरी माँ ने मुझे ऐसे ऐसे पलो में पाल पोश के बड़ा बनाया जिस वक्क्त वो परिवार की उस कश मो कश में फसी थी कि जिस रात वो खुद भूखे सो गई लेकिन माँ ने दोनों संतान को पेट भर खिलाया चाहे बासी बची रोटी ही क्यों न बची हो ऐसे लिखने में माँ शब्द को दिल करता है कि प्रकृति ने दिल का नाम बदलकर माँ क्यों न लिख दिया था. मेरी माँ ने अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा देने और जीवन मे आगे बढ़ने के लिए घर के बाहर पाव निकाल गैर सरकारी नौकरी की और सिलाई कटाई कर के दो पैसा निकाल के हम दोनों भाइयों को एक अच्छा रास्ता पे लाने के प्रयास में सफल रही. माँ से ही हम है बिन माँ मेरे जीवन मे सब अधूरा है. अपनी संतान के सुख के लिए माँ अनेक कष्टों और प्रताड़नाओ को भी सहर्ष स्वीकार कर लेती हैं. मेरी माँ ही प्रथम शिक्षिका है जीवन की उसने ही बोलना लिखना और व्यवहार सिखाया है, सुबह परिवार में सबसे पहले जागकर वह घर के काम-काज करती है. दिन में उसे नोकरी, व्यवसाय में खटना पड़ता है और शाम को घर आने पर पुन: परिवार का दायित्व उसके कंधों पर आ जाता है.,आधुनिक समाज में माँ को दोहरा जीवन व्यतीत करना पड़ रहा है.,नारी–स्वतंत्रता के नाम पर अधिकांश महिलाएँ विभिन्न श्रेत्रों में नोकरी, व्यवसाय कर रही हैं. उन्हें घर-परिवार की देखभाल के लिए अधिक समय नहीं मिलता परन्तु घर-परिवार की देखभाल नारी को ही करनी पड़ती है., सुबह परिवार में सबसे पहले जागकर. महान संत, महा पुरुषों की जीवनी सुनाकर माँ सन्तान में महान व्यक्ति बनने के संस्कार कूट-कूटकर भरती है. वह सन्तान को सामाजिक मर्यादाओं का ज्ञान कराती है और उच्च विचारों का महत्व बताती है. ऐसे ही कई उदाहरण दे कर मेरी माँ ने सामाजिक सौहार्द में रुचि बनाये रखने के लिए मुझे कई ऐसे कहानियां सुनाया करती है, अभी जिस कारण मैं आज समाज मे कई ऐसे कार्यो को उनके सुनाए किस्से का उदाहरन मैं बना हु और अपनी माँ की दी हुई शिक्षा को अपने जीवन मे उतरता रहूंगा. अपनी माँ का प्यार उनका प्यार का एक टुकड़ा उनका बेटा कुंदन शांडिल्य, मदर्स डे पे माँ को ये अपनी भावनाओं को समर्पित करता हूं.
चेक करा तुमचे आधारकार्ड सुरक्षित आहे का ?
Jeevan Kautik Suralkar 2019-05-11 14:40:36
अनेक महत्त्वाच्या कामासाठी आधारकार्ड आवश्यक आहे. परंतु तुमच्या आधारकार्डचा गैरवापर तर होत नाही ना ? याची प्रत्येकाला माहिती मिळणे गरजेचे आहे. आज त्याबाबत जाणून घेऊयात...
औरंगाबाद शहरात १९ हजारांवर वीजचोरी चा प्रकार उघड...
Jeevan Kautik Suralkar 2019-05-11 06:11:44
औरंगाबाद - महावितरणच्या औरंगाबाद प्रादेशिक विभागातील औरंगाबाद, जळगाव, लातूर व नांदेड परिमंडलात वीज चोरांविरुद्ध धडक मोहीम राबविण्यात आली. गेल्या वर्षभरात १९ हजार ८४४ वीजचोरी पकडून १६६ वीज चोरांविरुद्ध पोलीस ठाण्यात गुन्हे दाखल करण्यात आले आहेत. तर ६ कोटी २ लाख ३८ हजारांची दंडात्मक महसूल वसूल करण्यात आला.

Top Stories

Home | Privacy Policy | Terms & Condition | Why RNI?
Positive SSL