HIGHLIGHTS


Political parties hold meetings to discuss post-poll scenario

Root News of India 2019-05-20 13:32:04    POLITICS 5326
Political parties hold meetings to discuss post-poll scenario
New Delhi, May 20 (RNI): Political activities have gained momentum in the National Capital, with the leaders of various parties holding consultations on setting up of a new political order.

BJP President Amit Shah will meet leaders of National Democratic Alliance tomorrow ahead of the declaration of poll results on Thursday.

The meeting will take place in New Delhi where top NDA leaders will chalk out a strategy on the possible outcome of the elections.

Mr. Shah is also likely to host a dinner for them. The meeting comes in the backdrop of exit polls which have predicted a return of BJP-led NDA government at the Centre. The leaders of BJP-led National Democratic Alliance have expressed confidence that the NDA would get a clear mandate with a comfortable majority.

Opposition leaders, on the other hand, are preparing for the eventuality of a fractured mandate, consolidation of non-NDA parties and other splinter groups for the formation of a new government at the Centre.

Andhra Pradesh Chief Minister and TDP chief N Chandrababu Naidu has been holding talks with top opposition leaders, including Congress President Rahul Gandhi and NCP Chief Sharad Pawar, in New Delhi. Mr Naidu has been meeting with leaders of different parties to rally support for a non-BJP government at the Centre.

On Saturday, Mr Naidu had met Mr Gandhi and Mr Pawar before flying to Lucknow to hold talks with Samajwadi Party Chief Akhilesh Yadav and BSP President Mayawati. He also met Loktantrik Janata Dal leader Sharad Yadav and leaders of the Communist Party of India.

The TDP Chief had earlier held several rounds of discussions TMC Chief Mamata Banerjee, AAP national convener Arvind Kejriwal and CPI (M) general secretary Sitaram Yechury.




Related News

Politics

जम्मू-कश्मीर: आईएएस अधिकारी से राजनेता बने शाह फैसल से भी हटा पीएसए
Root News of India 2020-06-03 17:29:40
श्रीनगर, 3 जून 2020, (आरएनआई)। जम्‍मू कश्‍मीर के पूर्व मुख्‍यमंत्री फारूक अब्‍दुल्‍ला और उनके बेटे उमर अब्‍दुल्‍ला के बाद अब जम्‍मू कश्‍मीर प्रशासन ने आईएएस अधिकारी से राजनेता बने शाह फैसल पर भी लगाया गया जन सुरक्षा कानून (पीएसए) हटा दिया है। केन्द्र सरकार ने पिछले साल 5 अगस्त को जम्मू-कश्मीर से विशेष दर्जा वापस लेकर उसे दो केन्द्र शासित प्रदेशों में बांट दिया था, जिसके बाद मुख्यधारा के नेताओं समेत राज्य में सैकड़ों लोगों को पीएसए कानून के तहत हिरासत में ले लिया गया था।
मनोज तिवारी हटाए गए, आदेश गुप्ता नए दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष नियुक्त
Root News of India 2020-06-02 16:05:36
नई दिल्ली, 2 जून 2020, (आरएनआई)। दिल्ली से सांसद और ऐक्टर मनोज तिवारी को बड़ा झटका लगा है। बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने मनोज तिवारी को हटाकर आदेश गुप्ता को दिल्ली का नया प्रदेश अध्यक्ष बनाया है। इसके साथ छत्तीसगढ़ का अध्यक्ष विष्णुदेव साय को नियुक्त किया गया। मनोज तिवारी को पद से क्यों हटाया गया, इसके पीछे की वजह फिलहाल साफ नहीं है।
प्रधानमंत्री ने आपातकाल विरोधी आंदोलन में के एन लक्ष्मणन की भूमिका को याद किया
Root News of India 2020-06-02 12:59:15
नई दिल्ली, 2 जून 2020, (आरएनआई)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं पार्टी की तमिलनाडु इकाई के पूर्व अध्यक्ष के एन लक्ष्मणन के निधन पर दुख जताया और आपातकाल विरोधी आंदोलन में उनकी भूमिका याद की।
केजरीवाल ने कहा परमानेंट लॉकडाउन नहीं कर सकते, कोरोना रहेगा
Dr. Samrendra Pathak 2020-05-30 14:20:31
नई दिल्ली, 30 मई 2020, (आरएनआई)। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के दिल्ली में लगातार बढ़ते मामले को लेकर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज एक वीडियो प्रेस कॉन्फ्रेंस कर जानकारी दी और साथ ही उन्होंने लॉकडाउन को लेकर बड़ा बयान दिया।
छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी का निधन
Root News of India 2020-05-29 16:09:00
नई दिल्ली, 29 मई 2020, (आरएनआई)। छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी का आज 74 वर्ष की आयु में निधन हो गया।
चुनाव नहीं लड़ पायेंगे पूर्व सीएम मधु कोड़ा, दिल्ली हाईकोर्ट ने दोषसिद्धि पर रोक लगाने से किया इंकार
Root News of India 2020-05-22 17:20:46
नई दिल्ली, 22 मई 2020, (आरएनआई)। बहु चर्चित कोयला घोटाले से जुड़े झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा को शुक्रवार को दिल्ली हाईकोर्ट से बड़ा झटका लगा है. हाईकोर्ट ने मधु कोड़ा की उस याचिका को खारिज कर दिया है, जिसमें उन्होंने कोयला घोटाला मामले में दोषसिद्धि पर रोक लगाने की अपील की थी. याचिका में चुनाव लड़ने देने की मांग भी की गयी थी. जिसे दिल्ली हाईकोर्ट ने खारिज कर दिया.
1984 सिख विरोधी हिंसा मामला : कांग्रेस नेता सज्जन कुमार को राहत नहीं, सुप्रीम कोर्ट जुलाई में करेगा सुनवाई
Root News of India 2020-05-15 09:10:40
नई दिल्ली, 15 मई 2020, (आरएनआई)। 1984 सिख विरोधी हिंसा मामले में कांग्रेस नेता सज्जन कुमार को सुप्रीम कोर्ट की तरफ राहत नहीं मिली. सज्जन की जमानत याचिका सुप्रीम कोर्ट ने लंबित रखी है. सुप्रीम कोर्ट इस मामले में अब जुलाई में सुनवाई करेगा. सुप्रीम कोर्ट ने एम्स की मेडिकल रिपोर्ट देखकर कहा कि अभी उन्हें किसी तरह के उपचार की जरूरत नहीं है. बढ़ती उम्र और खराब तबियत का हवाला देकर सज्जन कुमार ने जमानत मांगी है.
महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे समेत नौ लोग विधान परिषद के लिए निर्विरोध चुने गए
Root News of India 2020-05-14 17:50:00
मुंबई, 14 मई 2020, (आरएनआई)। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और आठ अन्य लोग राज्य विधान परिषद के लिए निर्विरोध चुने गए हैं। इसी के साथ सीएम उद्धव ठाकरे की कुर्सी पर छाया संवैधानिक संकट टल गया।
उद्धव ठाकरे ने किया नामांकन, निर्विरोध चुने जायेंगे एमएलसी
Root News of India 2020-05-11 12:50:25
मुंबई, 11 मई 2020, (आरएनआई)। देश में जारी लॉकडाउन के बीच महाराष्ट्र में होने वाले विधान परिषद् के चुनाव के लिए राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने आज अपना नामांकन दाखिल कर दिया है।
केजरीवाल ने कहा कोरोना जाने वाला नहीं, इसके साथ जीना सीखना पड़ेगा
Root News of India 2020-05-03 08:39:34
नई दिल्ली, 3 मई 2020, (आरएनआई)। देश में लगातार बढ़ रहे कोरोना वायरस के मामले के बीच दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का कहना है कि कोरोना वायरस खत्म नहीं होने वाला, लोगों को इसके साथ ही जीने की आदत डालनी पड़ेगी।
उद्धव ठाकरे को बड़ी राहत, EC ने दी विधान परिषद के चुनाव कराने की अनुमति
Root News of India 2020-05-01 12:27:44
मुंबई, 1 मई 2020, (आरएनआई)। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को चुनाव आयोग से बड़ी राहत मिली है. राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के अनुरोध पर चुनाव आयोग ने राज्य विधानमंडल के उच्च सदन की नौ रिक्त सीटों के लिए चुनाव कराने की अनुमति दे दी है. महाराष्ट्र में विधान परिषद के चुनाव 21 मई को मुंबई में होंगे.
राज्यपाल ने उद्धव ठाकरे को नामित करने का फैसला टाला, EC के पाले में डाली गेंद, कहा- जल्द कराएं MLC चुनाव
Root News of India 2020-04-30 22:29:09
मुंबई, 30 अप्रैल 2020, (आरएनआई)। महाराष्ट्र में राजनीतिक संकट गहराता जा रहा है। राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को एमएलसी नामित करने पर फैसला टालते हुए गेंद अब चुनाव आयोग के पाले में डाल दी है। राज्यपाल कोश्यारी ने चुनाव आयोग को पत्र भेजा है। उन्होंने चुनाव आयोग से अनुरोध किया है कि वह जल्द से जल्द महाराष्ट्र विधान परिषद की 9 खाली सीटों पर चुनाव घोषित करें। अब अगर चुनाव आयोग राज्यपाल के अनुरोध को स्वीकार कर लेता है तो 28 मई से पहले चुनाव हो सकते हैं।
रिम्स ने कहा लालू यादव को कोरोना का कोई खतरा नहीं
Root News of India 2020-04-29 08:07:29
रांची, 29 अप्रैल 2020, (आरएनआई)। देश में लगातार बढ़ते कोरोना वायरस के मामले के बीच रांची की जेल में सजा काट रहे आरजेडी प्रमुख,लालू यादव पर भी इस वायरस का खतरा मंडरा रहा था। लेकिन अब रिम्स के निदेशक डा. डीके सिंह ने कहा है कि लालू प्रसाद यादव को कोरोना वायरस का कोई खतरा नहीं है।
उद्धव ठाकरे के पास मुख्यमंत्री की कुर्सी बचाने के लिए सिर्फ एक महीने का समय
Root News of India 2020-04-24 09:57:27
मुंबई, 24 अप्रैल 2020, (आरएनआई)। महाराष्ट्र में कोरोनावायरस से संक्रमित लोगों की संख्या पूरे देश में सबसे ज्यादा है लेकिन इस महामारी के बीच राज्य में संवैधानिक संकट भी गहराता जा रहा है. 28 नवंबर 2019 को उद्धव ठाकरे ने महाविकास अघाड़ी में शामिल तीनों पार्टियों के प्रतिनिधि के तौर पर मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी. लेकिन अब उनके पास अपनी कुर्सी बचाने के लिए सिर्फ एक महीने का ही समय है क्योंकि वो महाराष्ट्र के दोनों सदनों में से किसी के भी सदस्य नहीं हैं.
पांच मंत्रियों को बांटे गए विभाग, CM शिवराज ने सभी के साथ की बैठक
Root News of India 2020-04-22 16:46:41
भोपाल, 22 अप्रैल 2020, (आरएनआई)। कांग्रेस के आरोप-प्रत्यारोप की राजनीति के बीच मध्य प्रदेश में मंत्रिमंडल का गठन कर दिया गया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज 5 मंत्रियों को उनके मंत्रालय सौंपें। इन पांचों मंत्रियों ने कल ही शपथ ली थी। मध्य प्रदेश में मंत्रिमंडल गठन में शामिल 5 मंत्रियों को अलग-अलग विभाग सौंपे गए हैं।
उद्धव ठाकरे की कुर्सी को लेकर फंसा पेंच
Root News of India 2020-04-22 10:14:34
मुंबई, 22 अप्रैल 2020, (आरएनआई)। हाईकोर्ट द्वारा हस्तक्षेप करने से इनकार किये जाने के बाद अब सारी निगाहें महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी पर टिकी हैं जिन्हें मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को विधान परिषद का सदस्य नामित करने के बारे में फैसला लेना है. बंबई उच्च न्यायालय ने सोमवार को भाजपा के एक कार्यकर्ता की उस याचिका पर अंतरिम राहत देने से इनकार कर दिया जिसमें ठाकरे को राज्यपाल द्वारा नामित किए जाने के राज्य मंत्रिमंडल के फैसले को चुनौती दी गई थी. भाजपा कार्यकर्ता द्वारा दायर याचिका को खारिज करते हुए उच्च न्यायालय ने कहा कि राज्यपाल द्वारा सिफारिश की कानूनी वैधता पर विचार किये जाने की उम्मीद है. ठाकरे ने 28 नवंबर 2019 को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी और अभी वह विधानमंडल के किसी भी सदन के सदस्य नहीं हैं.
शिवराज मंत्रिमंडल का किया गया विस्तार
Root News of India 2020-04-21 12:29:40
भोपाल, 21 अप्रैल 2020, (आरएनआई)। कोरोना संकट के बीच मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के मंत्रिमडल का आज यानि मंगलवार को विस्तार किया गया है। राजभवन सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार दोपहर 12 बजे शपथ ग्रहण समारोह का आयोजन किया गया।
पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव को कोरोना संक्रमण का खतरा
Root News of India 2020-04-18 07:40:09
रांची, 18 अप्रैल 2020, (आरएनआई)। देश में तेजी से फ़ैल रहे कोरोना वायरस से झारखंड में मरीजों की संख्‍या में लगातार हो रही बढ़ोत्‍तरी के बीच सुप्रीम कोर्ट ने 7 साल तक की सजा पाए कैदियों और विचाराधीन कैदियों को पैरोल पर रिहा करने का आदेश दिया था। वहीँ खबर है की रांची के एम्स में भर्ती आरजेडी प्रमुख लाली यादव पर कोरोना संक्रमण का खतरा है।
कोरोना के खिलाफ जीत प्राथमिकता, मंत्रिमंडल विस्तार बाद में: शिवराज सिंह चौहान
Root News of India 2020-04-14 06:01:30
भोपाल, 14 अप्रैल 2020, (आरएनआई)। मध्य प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण के बीच भी राजनीति जारी है। एक दिन पहले पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कांग्रेस से भाजपा में शामिल हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया और सीएम शिवराज सिंह चौहान पर निशाना साधा था। अब सीएम शिवराज ने सोमवार को उन्हें जवाब दिया है।  
कोरोना वायरस से भी ज्यादा खतरनाक है राजनीतिक पार्टियों का एजेंडा
Root News of India 2020-04-13 10:43:00
नई दिल्ली, 13 अप्रैल 2020, (आरएनआई)। अधिकांश राजनीतिक पार्टियां अपने एजेंडे के साथ जनता को फायदा एवं नुकसान समझाती है। किंतु कुछ समय से राजनीतिक पार्टी द्वारा जिस तरीके से संपूर्ण देश में सांप्रदायिकता की आग में धीरे-धीरे झोंका जा रहा है इसका आभास शायद आम जनता को नहीं है। कुछ विशेष घटनाओं पर यदि ध्यान दें तो समझ सकते हैं की योगी जी का शासन आते ही उत्तर प्रदेश में योगी जी का गमछा खूब चला था। जिसके गले में गमछा था उसके लिए प्रदेश में कोई भी कानून नहीं था। इसी तरीके से भाजपा से जुड़े कुछ व्यापारिक संगठनों ने अपने विरोधियों को निशाने पर लेकर अनेक तरीके से उत्पीड़न किए गए। किंतु विपक्ष द्वारा किसी भी व्यापारिक संगठनों का साथ नहीं दिया गया। जिससे भाजपा से संबंधित संगठनों के हौसले बुलंद होते चले गए। पिछले 15 दिनों की घटनाओं पर यदि ध्यान दिया जाए तो जो कुछ हुआ है। वह अचानक नहीं हुआ। इसकी रूपरेखा पहले से ही तैयार थी। किसको कहा अपनी जिम्मेदारी निभानी है। सर्वप्रथम पुलिस के साथ आरएसएस के स्वयंसेवक कानून का माखौल उड़ाते दिखे। आरएसएस में सर्वप्रथम ऐसे व्यापारियों को निशाने में लिया जो उनके विरोधी थे। किसी न किसी तरीके से अधिकारियों से मिलकर उनका उत्पीड़न किया गया। इसके बाद संगठन के एक ग्रुप ने अन्य कार्य शुरू किया। उन्होंने समाजसेवियों पर शिकंजा कसना शुरू किया। जोकि असहाय लोगों को भोजन आदि की व्यवस्था करते हैं। संगठन द्वारा समाजसेवियों पर सर्वप्रथम दबाव बनाया गया कि अपने कच्चे या पक्के खाद्य पदार्थों को उन्हें दिया जाए। जिससे संगठन अपने फायदे के लिए गरीब परिवारों में खाद्य पदार्थ बांट सकें। किंतु कुछ स्वयंसेवी संगठनों ने इसका अंदरुनी विरोध किया। जिसके कारण राजनैतिक आकाओं द्वारा उक्त सभी संगठनों पर कानूनी नकेल कसने के लिए स्वयंसेवी संगठनों को समाज सेवा से अचानक रोक दिया गया। किंतु इससे भी उनका राजनैतिक उद्देश्य पूरा नहीं हुआ। कुछ सब्जी विक्रेताओं को विश्व हिंदू परिषद से जुड़े कार्यकर्ताओं ने विश्व हिंदू परिषद के झंडे को लगाकर सब्जी बेचने की बाध्यता कर दी। भाजपा द्वारा अपने राजनीतिक लाभ के लिए किस तरीके से निचले स्तर तक हिंदू मुस्लिम कर रहा है इसका यह स्पष्ट उदाहरण है। आप भाजपा से जुड़े संगठनों के झंडे लगाकर अथवा गमछा पहन कर कुछ भी कर सकते हैं। उनके लिए कोई भी कानून मायने नहीं रखता है। यदि आप भाजपा विरोधी हैं तो आपको कितने मुकदमे लाद दिए जाएंगे कि आप भाजपा की नीतियों का विरोध ही नहीं कर पाएंगे। कोरोनावायरस जितना खतरनाक नहीं है उससे ज्यादा भाजपा से संबंधित संगठनों का एजेंडा बहुत ही ज्यादा खतरनाक है।

Top Stories

Home | Privacy Policy | Terms & Condition | Why RNI?
Positive SSL